scorecardresearch

यूपी: इधर CM योगी के जनता दरबार में गुजारिश को पहुंचा बुजुर्ग, उधर बुलडोजर ने जमींदोज कर दिया घर; फूट-फूट रोया, बोला- कोई हाल तक न पूछने आया…

वायरल हो रहे वीडियो में पीड़ित परिजन कहते दिख रहे हैं कि कई दौर की कार्रवाई में हमारा मकान जमींदोज कर दिया गया। हम अपनी फरियाद लेकर सीएम योगी के जनता दरबार में भी पहुंचे।

Bareilly News, UP Bulldozer
बुलडोजर से मकान जमींदोज होने के बाद रोते बिलखते परिजन(फोटो सोर्स: ट्विटर वीडियो ग्रैब/@SanjayAzadSln)।

यूपी में बुलडोजर की कार्रवाई को लेकर जहां योगी सरकार अपनी पीठ थपथपा रही है तो वहीं विपक्ष इसको लेकर हमलावर है। यूपी के बरेली जिले में बिथरीचैनपुर थाना क्षेत्र के गांव चंदपुर बिचपुरी में बरेली विकास प्राधिकरण(BDA) द्वारा अवैध निर्माण पर कार्रवाई की गई। जिसको लेकर विपक्ष ने सवाल खड़ा किया है।

दरअसल यशवीर सक्सेना अपना घर बचाने के लिए सीएम योगी के जनता दरबार पहुंचे थे। जिस वक्त जनता दरबार में यशवीर सक्सेना अपनी गुहार लगाने पहुंचे थे तो उस दौरान उनके घर में बरेली विकास प्राधिकरण ने बुलडोजर की कार्रवाई कर दी। इससे जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें पीड़ित परिजन रोते हुए दिख रहे हैं। इसको लेकर आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने ट्वीट कर एक वीडियो शेयर किया है। जिसमें उन्होंने बुलडोजर राजनीति के खिलाफ आवाज उठानी की बात कही है।

उन्होंने लिखा, “रोते बिलखते ये शख़्स यशवीर सक्सेना हैं। बरेली से निकले अपना घर बचाने के लिये आदित्यनाथ जी के जनता दरबार में थे उसी वक़्त इनका मकान तोड़ दिया गया। बुलडोज़र राजनीति के ख़िलाफ़ हम सबको मिलकर आवाज़ उठानी होगी वरना कब किसका नंबर आ जाय पता नही?”

गौरतलब है कि वायरल हो रहे वीडियो में पीड़ित परिजन कहते दिख रहे हैं कि कई दौर की कार्रवाई में हमारा मकान जमींदोज कर दिया गया। हम अपनी फरियाद लेकर सीएम योगी के जनता दरबार में भी पहुंचे। लेकिन किसी ने हमारा हाल नहीं पूछा। एक परिजन का कहना है कि जिस वक्त कार्रवाई हो रही थी, उस वक्त हम लखनऊ में जनता दरबार में थे।

पीड़ित सदस्यों का कहना है कि हमारी कोई बात नहीं सुनी जा रही, उलटे अधिकारियों ने अपनी हठधर्मिता दिखाते हुए इस तरह की कार्रवाई की है।

वहीं पीड़ितों की तरफ से अवैध निर्माण को गिराये जाने के विरोध में किन्नर कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष किन्नर सोनम चिश्ती ने बरेली प्रशासन और बीडीए के खिलाफ भारी संख्या में मोर्चा खोल दिया है। ग्रामीणों एवं किन्नरों के साथ चिश्ती डीएम गेट पर ही बिस्तर लगाकर धरने पर बैठ गईं। गुरुवार को किन्नर सोनम ने कहा कि चाहे उन्हें जेल हो जाए या उनपर लाठी चल जाए, लेकिन न्याय होकर रहेगा।

सीएम योगी दे चुके हैं निर्देश: गौरतलब है कि बीते कुछ महीनों से यूपी पुलिस पर आरोप लगे हैं कि बुलडोजर का गलत इस्तेमाल हो रहा है। ऐसे में सीएम योगी ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि किसी भी हाल में गरीबों के घर या फिर दुकानों पर बुलडोजर नहीं चलाया जाये। उन्होंने अपने निर्देश में कहा कि इसका इस्तेमाल माफियाओं और उनकी अवैध संपत्ति के खिलाफ हो।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट