ताज़ा खबर
 

JNU Violence पर उमा भारती बोलीं- देश में कुछ विचारक जहरीले सांप की तरह, हम उन्हें ठीक कर देंगे

JNU Violence: पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा कि, "देश में कुछ विचारक हैं जो एक विशेष सांप की तरह हैं जो संख्या में कम है, लेकिन अत्यधिक जहरिला है और वह माहौल को जहरिला बनाने का प्रयास कर रहे हैं। हमें कुछ चीजों को ठीक करना होगा और हम उन्हें ठीक कर देंगे"।

BJP नेत्री उमा भारती। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः प्रेमनाथ पांडे )

JNU Violence: पूर्व केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (BJP) की फायर ब्रांड नेता उमा भारती ने JNU हिंसा को लेकर बुधवार को तीखा बयान दिया। उन्होंने कहा कि देश में कुछ विचारक हैं जो एक विशेष सांप की तरह हैं जो संख्या में कम है लेकिन अत्यधिक विषैले हैं। उमा भारती ने कहा कि देश के माहौल को जहरीला बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं। हमें कुछ चीजों को ठीक करना होगा और हम उन्हें ठीक कर देंगे। बता दें कि 5 जनवरी (रविवार) को कुछ नकाबपोश गुंडें छात्रों और शिक्षकों के बीच एक बैठक के दौरान जेएनयू परिसर में घुस आए और लोगों की पिटाई की। हिंसा में 30 से अधिक लोग घायल हो गए, जिनमें जेएनयू छात्र संघ (जेएनयूएसयू) के अध्यक्ष आइश घोष भी शामिल हैं।

दीपिका पादुकोण छात्रों के समर्थन के लिए पहुंची थी: जेएनयू में हुई हिंसा की व्यापक रूप से निंदा की गई, विभिन्न क्षेत्रों के लोगों ने छात्रों के साथ एकजुटता दिखाया है और हिंसा के खिलाफ मार्च और विरोध प्रदर्शन में भाग लिया। 5 जनवरी की हिंसा के खिलाफ छात्रों की एक बैठक के दौरान अभिनेत्री दीपिका पादुकोण ने मंगलवार (7 जनवरी) को परिसर का दौरा किया। जहां सभा को जेएनयूएसयू के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने संबोधित कर रहे थे।

Hindi News Today, 9 January 2020 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

सामान्य कामकाज को जल्द से जल्द बहाल करने के निर्देश: बता दें कि इस घटना की जांच दिल्ली पुलिस कर रही है और सीसीटीवी फुटेज की मदद से हिंसा में शांमिल लोगों की पहंचान करने की कोशिश कर रही है। वहीं दूसरी तरफ बुधवार (8 जनवरी) को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कुलपति जगदीश कुमार से कहा कि विश्वविद्यालय के सामान्य कामकाज को जल्द से जल्द बहाल करने के निर्देश दिए है।

वीसी ने छात्रों को वापस लौटने की अपील: गौरतलब है कि जेएनयू वीसी जगदीश कुमार ने मंगलवार (7 जनवरी ) को छात्रों से अपील की कि वे “अतीत को पीछे छोड़ दें और वापस कैंपस लौट आएं”, हालांकि बाद इस बयान पर जेएनयू के शिक्षक संघ ने वीसी की कड़ी आलोचना की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 CAA-NPR-NRC Protest: दिल्ली पुलिस ने मार्च कर रहे JNU छात्रों को जनपथ पर रोका
2 ‘दोबारा नहीं होने देंगे गांधी की हत्या, ना होगा देश का बंटवारा’, नागरिकता विवाद पर बोले अटल सरकार में रहे वित्तमंत्री
3 अमित शाह की रैली में की CAA के खिलाफ नारेबाजी, मकान मालिक ने कहा- ‘बदतमीज लड़की, नाक कटा दी’, निकलो..
ये पढ़ा क्या?
X