ताज़ा खबर
 

अनुपम खेर की फिल्‍म की स्‍क्रीनिंग पर मारपीट: बीजेपी ने जाधवपुर यूनिवर्सिटी को बताया ‘देश विराधी तत्‍वों का गढ़’

न पहले ही कैंपस में विवेक अग्‍न‍िहोत्री की फिल्‍म 'बुद्धा इन ट्रैफिक जाम' की स्‍क्रीनिंग को लेकर बवाल हो गया था। छात्रों के दो गुटों के बीच जमकर मारपीट हुई थी।

Author कोलकाता | May 7, 2016 2:08 PM
कैंपस में हुई मारपीट के दौरान कुछ लड़कियों से कथित तौर पर छेड़छाड़ भी हुई थी। ( Express photo)

पश्‍च‍िम बंगाल बीजेपी ने जाधवपुर यूनिवर्सिटी को ‘देश विरोधी तत्‍वों का गढ़’ करार दिया है। पार्टी ने विपक्षी सीपीएम और यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर पर ऐसे कथित तत्‍वों का सहयोग करने का आरोप लगाया है। बता दें कि एक दिन पहले ही कैंपस में विवेक अग्‍न‍िहोत्री की फिल्‍म ‘बुद्धा इन ट्रैफिक जाम’ की स्‍क्रीनिंग को लेकर बवाल हो गया था। छात्रों के दो गुटों के बीच जमकर मारपीट हुई थी। इस फिल्‍म में अभिनेता अनुपम खेर ने भी काम किया है।

राज्‍य के बीजेपी प्रमुख दिलीप घोष ने कहा, ”जाधवपुर यूनिवर्सिटी में छात्रों का उपद्रव एक सामान्‍य बात बन गई है। सेंसरबोर्ड से पास एक फिल्‍म की स्‍क्रीनिंग गैरकानूनी ढंग से रोक दी गई। जाधवपुर यूनिवर्सिटी के सीपीएम और वाम समर्थित छात्रसंघों का ट्रेंड रहा है कि वे अपने विचारधारा के खिलाफ किसी भी चीज का विरोध करते रहे हैं। यह देश के लोकतांत्रिक ढांचे के बिलकुल खिलाफ है। हम इसकी निंदा करते हैं। ”

घोष ने आरोप लगाया, ”जाधवपुर यूनिवर्सिटी देश विरोधियों का अड्डा है। वाम समर्थित स्‍टूडेंट यूनियन देश विरोधियों के लिए जमीन तैयार कर रहे हैं। इसलिए हम यूनिवर्सिटी स्‍टूडेंट्स के एक धड़े द्वारा भारत विरोधी नारेबाजी की घटना देख चुके हैं।” वीसी पर कैंपस में कथित देशविरोधी तत्‍वों को समर्थन देने का आरोप देने का आरोप लगाते हुए घोष ने मांग की कि उनकी भूमिका की जांच होनी चाहिए। घोष ने कहा, ”हम केंद्र सरकार को जाधवपुर यूनिवर्सिटी में चल रही गतिविधियों के बारे में केंद्र सरकार को जानकारी देंगे।”

बता दें कि शुक्रवार को कैंपस में हुई मारपीट के दौरान कुछ लड़कियों से कथित तौर पर छेड़छाड़ हुई थी। इसके अलावा, बीजेपी नेता और पूर्व एक्‍ट्रेस रूपा गांगुली भी मौके पर पहुंची थीं। हालांकि, उन्‍होंने कैंपस में घुसने की इजाजत नहीं दी गई थी। टकराव उस वक्‍त शुरू हुआ जब शाम को फिल्‍म की स्‍क्रीनिंग के बाद एबीवीपी और वाम समर्थित स्‍टूडेंट यूनियन के मेंबर आमने सामने आ गए।

गवर्नर ने भी साधा निशाना 

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल के एन त्रिपाठी ने भी शनिवार को कहा कि विश्वविद्यालय तेजी से ‘अशांति के एक केन्द्र’ के रूप में तब्दील हो रहा है और अधिकारियों को इसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। त्रिपाठी ने कहा, ‘‘उत्कृष्टता के एक केन्द्र के रूप में जाना जाने वाला जाधवपुर विश्वविद्यालय तेजी से अशांति के केन्द्र के रूप में तब्दील हो रहा है। अधिकारियों को इसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।’’ त्रिपाठी विश्वविद्यालय के कुलाधिपति भी हैं। यह पूछे जाने पर कि क्या वह विश्वविद्यालय के कुलपति से घटना के सिलसिले में रिपोर्ट मांगेंगे, त्रिपाठी ने कहा, ‘‘हमने अभी तक इस बारे में कोई निर्णय नहीं किया है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X