ताज़ा खबर
 

ये उन दिनों की बात है… सुषमा स्वराज ने आढ़तियों को बताया था किसानों का एटीएम’ कहा था- वालमार्ट जैसी कंपनियां को किसानों से बदबू आएगी

उमाशंकर ने पूर्व केंद्रीय मंत्री का वीडियो ट्वीट कर लिखा "सुषमा स्वराज की BJP में आढ़ती बस बिचौलिया नहीं था। सुन लीजिए।" वीडियो 2012 का है सुषमा किसानों के मुद्दे पर सदन में भाषण दे रही है।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: September 21, 2020 3:06 PM
उमाशंकर सिंह ने पूर्व केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज का एक वीडियो ट्वीट किया है (Express Photo by Tashi Tobgyal)

पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश समेत देश के कई हिस्सों में कृषि से जुड़े विधेयकों को लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। इसकी बड़ी वजह इस विधेयक का वो प्रावधान है, जिसमें किसानों को अपनी फसल कहीं पर भी बेचने की छूट दी गई है। इस पर वरिष्ठ पत्रकार उमाशंकर सिंह ने पूर्व केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज का एक वीडियो ट्वीट किया है। इस वीडियो में सुषमा आढ़तियों और किसानों के सबन्धों पर बात कर रही हैं।

उमाशंकर ने पूर्व केंद्रीय मंत्री का वीडियो ट्वीट कर लिखा “सुषमा स्वराज की BJP में आढ़ती बस बिचौलिया नहीं था। सुन लीजिए।” वीडियो 2012 का है सुषमा किसानों के मुद्दे पर सदन में भाषण दे रही है। इस भाषण में केंद्रीय मंत्री कहती है “जो ग्रामीण अर्थव्यवस्था को जनता है केवल वही इस बात को पहचान सकता है। ग्रामीण अर्थव्यवस्था यह कहती है कि आपके बैंकों के एटीएम तो आज आए हैं। आढ़ती किसानों का परंपरिक ATM है। किसान को बेटी की शादी करनी हो, बैंक का लोन देना हो, बच्चे की पढ़ाई करनी हो, बाप की दवाई करानी हो, सिर पर साफ़ा बांधता है सीधे मंडी में आढ़ती के यहां जाकर खड़ा हो जाता है।”

वीडियो में सुषमा आगे कहती हैं कि आढ़ती किसान को सिर्फ इस विश्वास पर पैसा देता है कि उसे मालूम है जब फसल आएगी तो वह बैलगाड़ी में भरकर यहां लाएगा और वह उसे बेंच कर अपना पैसा वसूल लेगा।

सुषमा ने कहा “मैं पूछना चाहती हूं क्या वालमार्ट और टैसको उन्हें उधर देगा। क्या उन्हें संवेदना होगी किसान की बेटी का बहन की शादी की। उसे तो धोती और साफे वाले किसान से बदबू आएगी। कोई किसान से सीधा खरीदेगा। नई एजेंसी खड़ी होंगी और नए बिचौलिये खड़े हो जाएंगे।”

बता दें किसान बिल का भी जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने सोमवार को कहा है कि इस बिल से किसानों को नई आजादी मिल गई है। अब वे जहां चाहें अपनी फसल बेच सकेंगे। पीएम मोदी ने कहा कि मैं एक बात आपको साफ कर दूं कि नए किसान कानूनों से न तो कृषि मंडियां खत्म होंगी और न ही एमएसपी पर कोई प्रभाव पड़ेगा। कुछ लोग एमएसपी को लेकर झूठ फैला रहे हैं, किसान भाई सावधान रहें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बोले PM- कृषि बिल 21वीं सदी के भारत की जरूरत; विपक्ष ने कहा- अंबानी-अडानी के हाथों गिरवी रख दी किसानों की जिंदगी, देश नहीं करेगा माफ
2 ‘और कितनों की लुटेगी इज्जत?’, संसद के बाहर BJP की रूपा गांगुली का प्रदर्शन, बोलीं- लोगों को मार रही फिल्म इंडस्ट्री, बना रही ‘नशाखोर’
3 नौकरी के लिए मार, फिर भी खाली पद नहीं भर रही सरकार? BSF, CRPF में हैं करीब 1 लाख वैकेंसियां
यह पढ़ा क्या?
X