फूलन देवी को लेकर TV डिबेट में भिड़े BJP और सपा प्रवक्ता; अखिलेश यादव बोले- भाजपा प्रवक्ताओं की दलित और महिला विरोधी सोच मुंह पर आ ही जाती है

सपा प्रवक्ता ने कहा, ”फूलन देवी सामाजिक व्यवस्था से पीड़ित महिला थीं जिसके साथ बीस लोगों ने सामूहिक बलात्कार किया, क्या उस महिला के साथ अत्याचार नहीं हुआ?”

sudhanshu trivedi
भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी (सोर्स- फेसबुक)

उत्तर प्रदेश में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी बढ़ती जा रही है और इसको लेकर सियासी पारा आसमान छू रहा है। राजनीतिक दल एक-दूसरे को घेरने के हर हथकड़े अपना रहे हैं। एक न्यूज चैनल के डिबेट में भाजपा के प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने समाजवादी पार्टी को घेरने की कोशिश में पूर्व सांसद स्व. फूलन देवी के लिए आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग किया, जिसपर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने निशाना साधते हुए इसे भाजपा की दलित और महिला विरोधी सोच करार दिया। 

न्यूज 18 के डिबेट के दौरान भाजपा के प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा,  ”फूलन देवी क्या थीं? ऑफिशियली डकैत थी या नहीं? उनके ऊपर 20-30 लोगों को खड़ा करके गोली मारने का आरोप था।” भाजपा प्रवक्ता की इस टिप्पणी को आपत्तिजनक करार देते हुए सपा प्रवक्ता राज कुमार भाटी ने कहा की उत्तर प्रदेश के भाजपा सरकार में 120 विधायक ऐसे हैं जिनपर संगीन धाराओं में आपराधिक मुक़दमे दर्ज है, अपराधियों को संरक्षण देने वाली भाजपा है।

सपा प्रवक्ता ने कहा, ”फूलन देवी सामाजिक व्यवस्था से पीड़ित महिला थीं जिसके साथ बीस लोगों ने सामूहिक बलात्कार किया, क्या उस महिला के साथ अत्याचार नहीं हुआ? वो पिछड़े वर्ग से आती थीं इसलिए भाजपा ऐसा बोल रही है। इससे यह पता चलता है कि भाजपा महिला विरोधी, पिछड़ा समाज विरोधी है।”

इस दौरान सपा और भाजपा के प्रवक्ता अपने-अपने बयान दोहराते रहे। सपा प्रवक्ता बार-बार सुधांशु त्रिवेदी के बयानों का हवाला देकर इसे मानवता विरोधी, महिला विरोधी और पिछड़ा विरोधी बताते रहे। टीवी डिबेट में फूलन देवी को लेकर दिए भाजपा प्रवक्ता के बयान पर अखिलेश यादव ने भी हमला बोला।

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस वीडियो को ट्विटर पर शेयर किया और भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया, ”भाजपा की दलित और महिला विरोधी सोच उनके प्रवक्ताओं के मुंह पर आ ही जाती है। स्व. फूलनदेवी जी के ख़िलाफ़ अपशब्द बोलकर भाजपा प्रवक्ता ने संपूर्ण निषाद समाज का घोर अपमान करने की कोशिश की परन्तु सपा के प्रवक्ता ने उनकी बोलती बंद कर दी।”

वहीं. भाजपा प्रवक्ता द्वारा मिर्जापुर से दो बार सांसद रहीं फूलन देवी के लिए कथित तौर पर आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल करने का निषाद समाज के लोगों ने भी विरोध किया। आगरा में निषाद समाज के लोगों ने महिला सांसद पर आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग करने का आरोप लगाते हुए भाजपा प्रवक्ता का पुतला फूंका।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट