ताज़ा खबर
 

लाइव शो में कांग्रेस नेता को संबित पात्रा ने लिख कर दिया- मंदिर वहीं बनाएंगे

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने एक लाइव टीवी शो में कागज में लिखकर बताया कि अयोध्या में राम मंदिर बनेगा। संबित पात्रा ने मुंबई में आयोजित इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2018 में मंदिर के लिए लिखकर वादा किया। उनके बगल में कांग्रेस नेता संजय निरूपम बैठे थे।

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने लाइव शो में लिख कर दिया कि राम का मंदिर वहीं बनेगा। (फोटो सोर्स- इंडिया टुडे)

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने एक लाइव टीवी शो में कागज में लिखकर बताया कि अयोध्या में राम मंदिर बनेगा। संबित पात्रा ने मुंबई में आयोजित इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2018 में मंदिर के लिए लिखकर वादा किया। उनके बगल में कांग्रेस नेता संजय निरूपम बैठे थे। संबित पात्रा ने उनसे कहा- ”आज आप कागज लेके आए हैं, मैं इस कागज में लिख देता हूं राम का मंदिर वहीं बनेगा… राम का मंदिर वहीं बनेगा। लिख के लो मंदिर वहीं बनेगा।” यह कहते हुए उन्होंने लाइव शो में पेन से कागज पर अपना वादा लिखा। हालांकि वह एक सादा कागज पर लिख रहे थे, न कि स्टांप पेपर पर। संबित पात्रा की इस प्रतिक्रिया पर संजय निरूपम ने तुंरत तो कुछ जाहिर नहीं किया, लेकिन बाद उन्होंने कहा- ”बीजेपी की यही एजेंडा है, मंदिर वहीं बनाएंगे, तारीख नहीं बताएंगे।” संजय निरूपम की इस बात पर दर्शक दीर्घा में बैठे लोगों में काफी ठहाके लगे।

डिबेट के बाद में पत्रकार ने जब संजय निरूपम से पूछा कि क्या वह संबित पात्रा का लिखा हुआ कागज साथ में ले जाएंगे, इस पर वह हंस दिए और बाहर निकल गए। अयोध्या विवाद पर रखी गई डिबेट में संबित पात्रा और संजय निरूपम के अलावा ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी भी शामिल थे। शो में तीनों नेताओं के बीच जमकर बहस हुई, उन्होंने अपने-अपने पक्ष रखे।

भारतीय जनता पार्टी की तरफ से वर्षों से यह नारा लगाया जाता आ रहा है कि ‘मंदिर वहीं बनाएंगे’। शुक्रवार (9 मार्च) को संबित पात्रा ने लाइव शो में लिख कर भी यह वादा किया कि राम का मंदिर वहीं बनेगा। बता दें कि हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद विवाद पर इलाहाबाद हाईकोर्ट के 2010 के फैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर अंतिम सुनवाई शुरू की है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने विवादित जगह को अयोध्या में निरमोही अखाड़ा, राम लला और सुन्नी वक्फ बोर्ड के बीच में विभाजित किया है। मंदिर को लेकर टीवी चैनलों पर खूब बहसें देखने को मिल रही हैं।

Next Stories
1 सोनिया गांधी ने बताया- कहां से सीखी हिंदी, जब राजीव ने कराई थी पहली मुलाकात तो इंदिरा गांधी ने फ्रेंच में की थी बात
2 ”गाय-बछड़ा” हुआ करता था कांग्रेस का चुनाव चिह्न, अपमान से बचने के लिए बदलवाया तो मिला ”पंजा”
3 जिस मुद्दे को छोड़कर नीतीश ने थामा मोदी का हाथ, उसी मुद्दे पर नायडू ने छोड़ दिया साथ
आज का राशिफल
X