ताज़ा खबर
 

राहुल गांधी ने की शिव आराधना तो बिदके संबित पात्रा, कहा- इन्‍होंने ही हिंदुओं को बताया था लश्‍कर से ज्‍यादा खतरनाक

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार (24 सितंबर) को अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी (उत्तर प्रदेश) पहुंचे। उन्होंने यहां पर भगवान भोलेनाथ की पूजा-अर्चना की। कांग्रेस अध्यक्ष उस दौरान कुछ कांवड़ियों से भी मिले थे। पर उनकी यह शिव आराधना भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को कतई रास न आई।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार को अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी पहुंचे थे। (फोटोः FB/ANI)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार (24 सितंबर) को अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी (उत्तर प्रदेश) पहुंचे। उन्होंने यहां पर भगवान भोलेनाथ के मंदिर में पूजा-अर्चना की। पर उनकी यह शिव आराधना भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को कतई रास नहीं आई। बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा इसी को लेकर उन पर बुरी तरह बिदक गए। पत्रकारों से वह बोले, “ये वही राहुल हैं, जिन्होंने हिंदुओं को पाकिस्तानी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से भी ज्यादा खतरनाक बताया था।”

पात्रा ने आगे कहा, “यह वही राहुल हैं, जिन्होंने भगवा आतंकवाद शब्द गढ़ा था। आज अचानक वह शिव भक्त बन रहे हैं। मगर देश की जनता की आंखों में कोई धूल नहीं झोंक सकता है। लोगों को उनका फैंसी ड्रेस हिंदुज्म भी साफ दिख रहा है।”

सुनें, और क्या बोले बीजेपी प्रवक्ता-

बकौल बीजेपी प्रवक्ता, “यह वही राहुल हैं, जिन्होंने एक बार कहा था- लश्कर से ज्यादा खतरा हिंदुओं से हैं। यह वही राहुल हैं, जिनकी पार्टी के शीर्ष नेता और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा था कि भारत के संसाधनों पर पहला अधिकार हिंदुओं के बजाय मुस्लिमों का है।”

देखें, अमेठी दौरे पर कांग्रेस अध्यक्ष ने क्या-क्या किया-

राहुल दो दिवसीय दौरे पर दोपहर को अमेठी पहुंचे। जगह-जगह शिव भक्त के तौर पर उनका स्वागत हुआ। बाबा शिव संग कांग्रेस अध्यक्ष के फोटो लगे पोस्टरों से पटे फुरसतगंज में ‘कांवड़िया संघ’ के भगवा वस्त्रधारी पदाधिकारियों ने भी उनका गर्मजोशी से स्वागत किया। मुख्य कार्यक्रमस्थल पर भोलेनाथ की बड़ी सी तस्वीर लगी थी, जिसके आगे राहुल ने शीश नवाया।

एक कांग्रेस समर्थक ने बताया, “पूर्वांचल में घर के किसी व्यक्ति के तीर्थ से लौटने पर विशेष स्वागत होता है। चूंकि राहुल कैलास से पहली बार अमेठी आए, लिहाजा उनका यूं स्वागत हुआ।” अमेठी दौरे पर वह जिला सतर्कता एवं निगरानी समिति की बैठक में हिस्सा लेंगे और पार्टी नेताओं-कार्यकर्ताओं से भी मिलेंगे।

आपको बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष कई मौकों पर खुद को हिंदू, शिवभक्त और जनेऊधारी बता चुके हैं। हाल ही में वह हिंदुओं के पवित्र तीर्थ स्थल कैलास मानसरोवर की यात्रा पर गए थे। दरअसल, कर्नाटक विस चुनाव प्रचार के दौरान वह हेलीकॉप्टर हादसे में बाल-बाल बचे थे। उन्होंने उस घटना के बाद भगवान शिव को शुक्रिया अदा करने के लिए कैलास जाने की इच्छा जताई थी।

(भाषा इनपुट के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App