ताज़ा खबर
 

संब‍ित पात्रा ने पाक‍िस्‍तानी वेबसाइट का गलत लिंक रिट्वीट कर एनडीटीवी को घेरा, पर उल्‍टा पड़ गया दावं

जिस टाइम्स ऑफ इस्लामाबाद की खबर को संबित पात्रा ने रिट्वीट किया है वो भाजपा के खिलाफ फर्जी खबरें चलाने कते लिए कुख्यात है।

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा।

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा एक बार फिर से सोशल मीडिया पर फेक न्यूज़ शेयर कर मुश्किलों में फंसते नजर आ रहे हैं। संबित पात्रा ने रविवार को टाइम्स ऑफ इस्लामाबाद की एक खबर को ट्वीट करते हुए एनडीटीवी पर निशाना साधने की कोशिश की, लेकिन इस बार मामला उलटा पड़ गया। एनडीटीवी ने पात्रा के इस ट्वीट पर सफाई मांग ली है। दरअसल हुआ ये कि टाइम्स ऑफ इस्लामाबाद ने एक खबर पब्लिश की। इस खबर में बताया गया कि एनडीटीवी के अनुसार पीएम नरेंद्र मोदी का मेक इन इंडिया प्रोजेक्ट फ्लॉप साबित हुआ है। संबित पात्रा ने इसी खबर के लिंक को ट्वीट करते हुए एनडीटीवी को घेरने की कोशिश की। आपको बता दें कि अभी हाल ही में बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा को एनडीटीवी की एंकर निधि राजदान ने अपने चैनल पर लगाने के कारण लाइव डिबेट शो से बाहर का रास्ता दिखा दिया था। लाइव शो का वो वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल भी हुआ था। उस शो के बाद से ही संबित एनडीटीवी पर हमलावर रुख अपनाए हुए नजर आ रहे हैं।

संबित पात्रा ने रविवार 11 जून को टाइम्स ऑफ इस्लामाबाद की जिस खबर के लिंक को रिट्वीट करते हुए एनडीटीवी पर निशाना साधा उस खबर से एनडीटीवी की कोई लेना देना नहीं था। दरअसल ये आर्टिकल पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने इंडियन एक्सप्रेस के लिए लिखा था। टाइम्स आफ इस्लामाबाद ने इंडियन एक्सप्रेस की जगह एनडीटीवी का हवाला दे दिया। एनडीटीवी की आपत्ति के बाद इस पाकिस्तानी न्यूज़ पोर्टल ने अपनी गलती सुधारते हुए एनडीटीवी का नाम खबर से हटा दिया, लेकिन जब तक संबित पात्रा अपनी गलती सुधारते तब तक एनडीटीवी ने उनके ट्वीट पर आपत्ति जताते हुए उनसे सफाई मांग ली है।

आपको बता दें कि जिस टाइम्स ऑफ इस्लामाबाद की खबर को संबित पात्रा ने रिट्वीट किया है वो भाजपा के खिलाफ फर्जी खबरें चलाने कते लिए कुख्यात है। इससे पहले भी इस पाकिस्तानी न्यूज पोर्टल ने एक खबर चलाई थी जिसमें लिखा गया था कि भारत में वंदे मातरम ना बोलने वालो भारतीय मुसलमानों को देश छोड़ने के लिए मजबूर किया जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App