ताज़ा खबर
 

आने वाले 100 साल तक कांग्रेस को संभालते रहें, बोले संबित पात्रा, केजरीवाल पर जेडीयू प्रवक्ता का तंज

मंगलवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने श्वेतपत्र जारी करते हुए कहा कि वैज्ञानिकों ने कोरोना की दूसरी लहर के लिए सरकार को चेताया था, लेकिन सरकार ने इस पर ध्यान नहीं दिया।

टीवी डिबेट में भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा को आया गुस्सा (एक्सप्रेस फोटो: ताशी तोब्ग्यल)

मंगलवार को कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने श्वेत पत्र जारी केंद्र सरकार पर कोरोना महामारी के दौरान लापरवाही दिखाने का आरोप लगाया। इसी मुद्दे पर टीवी डिबेट के दौरान भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि वह आने वाले 100 साल तक कांग्रेस को संभालते रहें। इसके अलावा टीवी डिबेट में मौजूद रहे जदयू प्रवक्ता ने कोरोना टीकाकरण अभियान को लेकर राहुल गांधी के साथ साथ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी निशाने पर ले लिया।

टीवी चैनल न्यूज18 इंडिया पर एंकर अमिश देवगन के डिबेट शो में भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि वह तो प्रार्थना करते हैं कि आने वाले 100 सालों तक राहुल गांधी कांग्रेस का शासन संभालें और इसी तरह से ट्वीट करते रहें और वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस करते रहें। टीवी डिबेट के दौरान ही मौजूद रहे जदयू प्रवक्ता अजय आलोक ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के साथ ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी निशाने पर ले लिया।

जदयू प्रवक्ता अजय आलोक ने कहा कि एक अरविंद केजरीवाल हैं, जिनको ईश्वर ने जरूरत से ज्यादा समझ दी है। जब जाना था जापान तो पहुंच गए चीन। जब 21 तारीख को टीकाकरण अभियान था तो पंजाब पहुंच गए थे और कह रहे थे कि आम आदमी पार्टी को मौका दो। एक राहुल गांधी हैं, जिनको इतनी भी समझ नहीं है कि पहले अपने घर में समझ दे दें, तब बाहर में श्वेत पत्र लाएं। 

इसके अलावा टीवी डिबेट के दौरान जब शो के एंकर अमिश देवगन ने आप प्रवक्ता संजीव झा से सवाल पूछते हुए कहा कि क्या आपको नहीं लगता कि आप भी कोरोना को लेकर राजनीति कर रहे हैं। इसके जवाब में संजीव झा ने कहा कि अगर किसी गलती को सामने लाना और उसपर सवाल उठाना राजनीति है तो वह ऐसी राजनीति करना चाहेंगे। साथ ही आप प्रवक्ता ने कहा कि कोरोना के दौरान ज्यादातर समय केंद्र सरकार चुनाव प्रबंधन में लगी हुई थी और उसमें कमियां भी दिखी।

बता दें कि मंगलवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने श्वेतपत्र जारी करते हुए केंद्र सरकार पर कोरोना महामारी के दौरान कुव्यवस्थाओं के आरोप लगाए। राहुल गांधी ने कहा कि वैज्ञानिकों ने कोरोना की दूसरी लहर के लिए सरकार को चेताया था, लेकिन सरकार ने इस पर ध्यान नहीं दिया। दूसरी लहर संभालने में सरकार विफल रही। दूसरी लहर में लोगों को बचाया जा सकता था, लेकिन बचाया नहीं गया। सरकार की लापरवाही से लाखों की जान गईं, करोड़ों लोग कोरोना से प्रभावित हुए। क्योंकि अस्पतालों में बेड की कमी, ऑक्सीजन की कमी दूर करने के लिए सरकार ने कोई तैयारी नहीं की थी। अब तीसरी लहर आने की संभावना है। ऐसे में सरकार को पहले से इसकी तैयारी करनी चाहिए।

Next Stories
1 बिहार शर्मसार: अस्पताल में लाश रखने का इंतज़ाम नहीं, पोटली बांध ले जाना पड़ा श्मशान
2 वायरस, फर्जी वेबसाइट व नकली ऐप से रहें सावधान, वरना उठाना पड़ सकता है भारी नुकसान, ऐसे करें पहचान
3 तेजस्वी के साथ भी जा सकते हैं चिराग पासवान, बोले- नरेंद्र मोदी पर आज भी विश्वास, लेकिन एकतरफ़ा न हो
ये पढ़ा क्या?
X