ताज़ा खबर
 

शिवराज ने कमलनाथ को कहा रावण और ज्योतिरादित्य को विभीषण तो हंसने लगे लोग, बोले- लंका जलाने के लिए साथ जरूरी

चौहान ने अपना भाषण जारी रखते हुए कहा, "और अब सिंधिया जी हमारे साथ हैं। मिलकर लड़ेंगे, इनको (कमलनाथ सरकार) धाराशायी करेंगे।" उन्होंने कहा, "देख लेंगे। एक एक बात का हिसाब लेंगे।"

Author Edited By नितिन गौतम भोपाल | March 13, 2020 10:12 AM
madhya pradeshशिवराज सिंह ने कमलनाथ को रावण और सिंधिया को विभिषण बताया। (फाइल फोटो)

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरूवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ को रावण और कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया को विभीषण बताया है। इसके अलावा, उन्होंने कांग्रेस एवं कमलनाथ पर पर निशाना साधते हुए कहा कि कल तक तो ये सिंधिया को महाराज-महाराज कहते थे और अब उन्हें माफिया कहते हैं। क्या एक दिन में सिंधिया जी महाराज से माफिया हो गये?

भाजपा में शामिल होने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया गुरुवार को पहली बार भोपाल पहुंचे। जहां उन्होंने एयरपोर्ट से लेकर भाजपा मुख्यालय तक रोडशो किया। जिसमें बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता और सिंधिया समर्थक शामिल हुए। भाजपा मुख्याल में सिंधिया का स्वागत किया गया।

इस दौरान आयोजित हुई सभा को संबोधित करते हुए शिवराज चौहान ने कहा, “मेरे कमलनाथ, मैंने कहा था कि (हमारे) कार्यकर्ता के आये एक-एक आंसू का हिसाब लूंगा।” उन्होंने कमलनाथ पर प्रदेश की जनता एवं भाजपा कार्यकर्ताओं पर जुल्म करने का आरोप लगाते हुए कहा, “इसका (मकान, होटल, रिसॉर्ट) तोड़ दो, इसको मिटा दो, तुम्हारे घर का राज है क्या? यदि तुम ठीक से राज करते तो हम सड़कों पर नहीं उतरते।”

चौहान ने कहा, “लेकिन आज हम यह संकल्प करते हैं कि कमलनाथ जब तक तुम्हारे पाप, अत्याचार, अन्याय, भ्रष्टाचार और आतंक की लंका को जलाकर राख नहीं कर देते, हम चुप नहीं बैठेंगे। हम आराम से नहीं बैठेंगे।” कांग्रेस छोड़ भाजपा में आये सिंधिया की ओर संकेत करते हुए उन्होंने आगे कहा, ‘‘लेकिन रावण की लंका अगर पूरी तरह जलानी है तो विभीषण की तो जरूरत होती है मेरे भाई।’’ इस पर वहां मौजूद भाजपा कार्यकर्ता हंसने लगे।

चौहान ने अपना भाषण जारी रखते हुए कहा, “और अब सिंधिया जी हमारे साथ हैं। मिलकर लड़ेंगे, इनको (कमलनाथ सरकार) धाराशायी करेंगे।” उन्होंने कहा, “देख लेंगे। एक एक बात का हिसाब लेंगे।”

वर्ष 2018 में कमलनाथ के नेतृत्व वाली मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार आने की ओर इशारा करते हुए चौहान ने कहा, “15 साल बाद आये हैं तो बहुत अच्छी सरकार चलाएंगे, लेकिन पूरे प्रदेश को तबाह एवं बर्बाद कर दिया। विकास के सारे काम ठप कर दिये। केवल एक काम है कि भाजपा के कार्यकर्ताओं को कुचल दो। आदिवासियों की जमीन छीनने का काम किया गया, हमारे कार्यकर्ताओं के होटल जला दिये, एफआईआर करो, रासुका लगा दो, होटल, रिसॉर्ट तोड़ दो, प्राथमिकी दर्ज करा दो, बंद करा दो, रासुका लगा दो।”

कमलनाथ सहित कांग्रेस नेताओं द्वारा सिंधिया को माफिया कहने पर चौहान ने तंज कसते हुए आगे कहा, ‘‘और कल तक तो (सिंधिया को) कहते थे महाराज-महाराज और अब कहते हैं माफिया है। एक दिन में महाराज से माफिया हो गया।’’ उन्होंने कहा कि चारों तरफ इस कांग्रेस सरकार ने आतंक का वातावरण बना कर हमारे हजारों कार्यकर्ताओं के साथ जुल्म किया, अन्याय किया, जनता को परेशान किया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 इटली में लोगों के पार्क जाने पर रोक, अन्य देशों ने भी उठाए सख्त कदम
2 Coronavirus Covid-19: GPS ट्रैकिंग, CCTV सर्विलांस, कॉल रिकॉर्ड्स से 900 लोगों की हो रही निगरानी, कोरोना वायरस से निबटने को केरल यूं मार रहा हाथ-पैर
3 राजस्थान: 25 करोड़ के ऐड में केवल सीएम गहलोत की तस्वीर, डिप्टी सीएम पायलट की एक में भी नहीं
IPL 2020
X