scorecardresearch

बंगाल चुनाव: सभी 294 विधानसभा क्षेत्रों में रथयात्रा निकालेगी बीजेपी, घंटों मंथन में बना ममता को हराने का प्लान

बताया गया है कि इन रथयात्राओं की शुरुआत फरवरी से होगी। यह फैसला दिल्ली में शुक्रवार को हुई भाजपा आलाकमान की बैठक में हुआ।

West Bengal, Amit Shah
पश्चिम बंगाल के बोलपुर में रैली के दौरान अमित शाह। (एक्सप्रेस फाइल फोटो- शशि घोष)

पश्चिम बंगाल में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने कमर कस ली है। पार्टी ने चुनाव से ठीक पहले अलग-अलग कार्यक्रमों के जरिए बंगाल की जनता तक पहुंच बनाने की कोशिशें शुरू कर दी हैं। अपने नए अभियान के तहत भाजपा राज्य में रथयात्राएं निकालेगी। इन रथयात्राओं के जरिए पार्टी राज्य के लोगों को परिवर्तन (बदलाव) का संदेश देगी। सूत्रों का कहना है कि भाजपा राज्य में कुल पांच रथयात्रा निकालेगी, जिनसे सभी 294 सीटें कवर करने की कोशिश की जाएगी।

बताया गया है कि रथयात्राओं की शुरुआत फरवरी से होगी। यह फैसला दिल्ली में शुक्रवार को हुई भाजपा आलाकमान की बैठक में हुआ। बैठक में गृह मंत्री अमित शाह से लेकर भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा शामिल थे। दोनों ने पश्चिम बंगाल के प्रभारी नेताओं- महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, शिव प्रकाश, बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष और अन्य के साथ आगे की रणनीति पर चर्चा की थी।

इसी मीटिंग का हिस्सा रहे भाजपा के एक अंदरूनी सूत्र ने कहा, “भाजपा पश्चिम बंगाल में फरवरी से पांच रथयात्राएं निकालेगी। इसके जरिए बंगाल की 294 विधानसभा सीटों तक पहुंच बनाई जाएगी। रथयात्राओं का नेतृत्व पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेता करेंगे। यह कुछ इस तरह तैयार की जाएगी कि एक सोमवार को यात्रा शुरू करने वाला नेता पूरे हफ्ते यात्रा से जुड़ा रहेगा। जल्द ही इससे जुड़ी अन्य जानकारियों- जैसे रथयात्रा का रूट और अन्य चीजों पर चर्चा पूरी होगी।”

माना जा रहा है कि भाजपा अपने इन कदमों के जरिए राज्य में सत्तासीन तृणमूल कांग्रेस के नेताओं को तोड़ने की कोशिश में है। इनमें ममता बनर्जी सरकार के मंत्री भी शामिल हैं। भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने कहा- “ममता जी अब अपने दल को एकजुट रखने में व्यस्त हैं, लेकिन ज्यादा से ज्यादा लोग भाजपा जॉइन कर रहे हैं। हम कुछ और बड़े नेताओं के साथ चर्चा में हैं और जल्द ही कुछ और नेताओं को भाजपा में शामिल होते हुए देखा जाएगा।”

भाजपा नेता ने कहा कि केंद्रीय नेतृत्व ने इस बारे में साफ कर दिया है कि पार्टी में शामिल होने वाले नेता का ठीक से बैकग्राउंड चेक किया जाना चाहिए। साथ ही पार्टी में शामिल करने से पहले उसके प्रभाव के बारे में भी ठीक ढंग से जांच होनी चाहिए।

हर महीने कम से कम दो बार बंगाल दौरा करेंगे शाह-नड्डा: मीटिंग में इस बात पर भी चर्चा हुई कि अमित शाह और जेपी नड्डा चुनाव तक हर महीने कम से कम दो बार कैडर के साथ चुनावी रैलियों और बैठक के लिए बंगाल पहुंचेंगे। शाह इसी महीने की 30 और 31 तारीख को बंगाल में पार्टी के कार्यक्रम का हिस्सा बनने पहुंच सकते हैं। भाजपा नेताओं का कहना है कि बंगाल में मार्च-अप्रैल में चुनाव हो सकते हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बंगाल में सिर्फ तभी रैली करेंगे, जब चुनाव की तारीखों का ऐलान हो जाएगा।

पढें कोलकाता (Kolkata News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X