ताज़ा खबर
 

लालकृष्ण आडवाणी बोले- कराची और सिंध के बिना भारत अधूरा है

प्रजापति ब्रह्म कुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के 48वें अधिरोहण समारोह में आडवाणी ने खेद प्रकट किया कि कराची, भारत का हिस्सा नहीं है और सिंध के बिना भारत अधूरा लगता है।

Author January 15, 2017 6:13 PM
लालकृष्ण आडवाणी (फाइल फोटो)

भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने आज (15 जनवरी, 2017 को) सुझाव दिया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) को अधिक संख्या में महिलाओं को शामिल करना चाहिए । महिलाओं को शामिल करने पर ‘प्रजापति ब्रह्मकुमारी’ संगठन की प्रशंसा करते हुए आडवाणी ने कहा कि वे चाहते हैं कि लोग और आरएसएस इसका अनुसरण करें । आडवाणी आरएसएस से जुड़े रहे थे ।

आडवाणी ने कहा, ‘‘ मैंने ऐसा कोई संगठन नहीं देखा है जिसका नेतृत्व मुख्य रूप से महिलाएं करती हैं । यह अद्भुत है । मैं एक संगठन से वर्षो से जुड़ा रहा हूं और सम्मान करता हूं । मुझसे जो कोई मिलने आता है, उन्हें उस संगठन का अनुसरण करने को कहता हूं । ’’ 89 वर्षीय नेता ने कहा, ‘‘यह काफी कठिन है, आसान नहीं है। जिस संगठन की मैं बात कर रहा हूं, वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ है जिसमें मुख्य रूप से बालपन में लड़के शामिल होते हैं। महिलाओं की भी थोड़ी उपस्थिति है ।’’

प्रजापति ब्रह्म कुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के संस्थापक आध्यात्मिक गुरू पिताश्री ब्रह्मा के 48वें अधिरोहण समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने इस बात पर खेद प्रकट किया कि कराची, भारत का हिस्सा नहीं है और सिंध के बिना भारत अधूरा लगता है। आडवाणी का जन्म एक सिंधी परिवार में हुआ था। उन्होंने कहा, ‘‘ कभी-कभी मैं महसूस करता हूं कि कराची और सिंध अब भारत का हिस्सा नहीं रहे । मैं बचपन के दिनों में सिंध में आरएसएस में काफी सक्रिय था। मेरा मानना है कि सिंध के बिना भारत अधूरा है।

वीडियो देखिए- जब लालकृष्ण आडवाणी के विमान के लिए मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान के हवाई जहाज को लगाना पड़ा धक्का

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App