दाएं घुमाएं तो गड्ढे में, बाएं घुमाएं तो गड्ढे में, अमित शाह नहीं सुधार सकते कांग्रेस पार्टी- बोले संबित पात्रा

संबित पात्रा ने कहा कि, लोकतंत्र में एक स्वस्थ विपक्ष का होना आवश्यक है। लेकिन ये काम कांग्रेस को खुद करना होगा, ये काम मोदी जी और अमित शाह का नहीं है।

Sambit Patra ,Acharya Pramod,BJP, Congress
कांग्रेसी नेता आचार्य प्रमोद और भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा(फोटो सोर्स: यूट्यूब/वीडियो ग्रैब)

पंजाब में सियासी उठापटक के बीच कांग्रेस की जो हालत हुई है, उसको लेकर विपक्षी दल लगातार पर कांग्रेस पार्टी पर तंज कस रहे हैं। बता दें कि पंजाब कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे के बाद 29 सितंबर को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच मुलाकात हुई। इस मुलाकात को लेकर कई राजनीतिक कयास लगाए जाने लगे हैं। ऐसे में एक निजी न्यूज चैनल के डिबेट शो में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेसी प्रवक्ता की बातों का जवाब देते हुए राहुल गांधी को कांग्रेस का सबसे असफल ड्राइवर(लीडर) कहा।

राहुल गांधी सबसे असफल ड्राइवर: कांग्रेसी प्रवक्ता आचार्य प्रमोद ने पंजाब में पार्टी की हालत पर कहा कि, ये राहुल जी की गलती नहीं है, ड्राइवर(प्रदेश अध्यक्ष) की गलती है। एक्सीडेंट कर दिया, हम क्या करेंगे। इसी पर पात्रा ने कहा कि, सबसे बड़े असफल ड्राइवर तो राहुल गांधी हैं। 2013 से नॉन स्टॉप एक्सीडेंट कर रहे हैं। दाएं घुमाएं तो गड्ढे में, बाएं घुमाएं तो गड्ढे में, आगे चले तो पोल में टक्कर…राहुल गांधी जब से गाड़ी(पार्टी) चला रहे हैं, तब से ही किसी भी लक्ष्य तक पार्टी नहीं पहुंच सकी है। कांग्रेस हर जगह गड्ढे-खाई में ही गिरी है।

सिद्धू मानव बम: इस डिबेट शामिल SAD नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने नवजोत सिंह सिद्धू को मानव बम बताया। इसपर प्रियंका गांधी के करीबी माने जाने वाले कांग्रेसी नेता आचार्य प्रमोद ने कहा कि, कांग्रेस में आने से पहले सिद्धू का पालन पोषण भाजपा ने किया। वो तो भाजपा के सांसद थे। हम खुद कह रहे हैं कि, उनपर भरोसा करना एक गलती थी लेकिन राजनीति में ऐसे फैसले लिए जाते हैं, कभी-कभी कोई फैसला गलत साबित हो जाता है। कांग्रेस एक विशाल हृदय वाली पार्टी है, जिसने भाजपा के कई नेताओं को अपनी पार्टी में जगह दी।

वहीं डिबेट में शामिल लेखक सुहेल सेठ ने इस बात पर जोर दिया कि लोकतंत्र में विपक्ष का स्वस्थ होना जरूरी है। इसपर संबित पात्रा ने कहा कि, बात सही है कि किसी स्वस्थ लोकतंत्र में एक विपक्ष का स्वस्थ होना बेहद जरूरी है, मगर ये काम मोदी जी और अमित शाह का नहीं है। यह हमारा काम नहीं है। ये इन्हें खुद करना होगा जोकि इनसे हो नहीं रहा है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट