scorecardresearch

न राष्‍ट्रीय, न भारतीय… अब कांग्रेस सिर्फ भाई-बहन की पार्टी, बीजेपी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने कसा राहुल-प्रियंका गांधी पर तंज

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि जो पारिवारिक पार्टियां हैं, उनका उद्देश्य सिर्फ सत्ता पाना होता है। इनकी कोई विचारधारा नहीं है और इनके कार्यक्रम भी लक्ष्यविहीन होते हैं।

Rahul Gandhi and Priyanka Gandhi
कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कांग्रेस सांसद राहुल गांधी और पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी पर तंज कसा है। एक सेमिनार को संबोधित करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस अब न तो राष्ट्रीय रह गई है, न भारतीय और न ही प्रजातांत्रिक रह गई है, ये ‘भाई-बहन’ की पार्टी बनकर रह गई है।

‘लोकतांत्रिक शासन के लिए वंशवादी राजनीतिक दल खतरा’ पर आयोजित एक सेमिनार को संबोधित करते हुए जेपी नड्डा ने कहा कि प्रजातांत्रिक व्यवस्था में राजनीतिक दल महत्वपूर्ण उपकरण है। उन्होंने कहा कि अगर वह स्वस्थ हो तो प्रजातंत्र स्वस्थ है। अगर वो अस्वस्थ है तो प्रजातंत्र अस्वस्थ है। इससे धीरे-धीरे प्रजातांत्रिक व्यवस्था पर आघात पहुंचने लगता है।

जेपी नड्डा ने कहा, “पार्टी का स्वास्थ्य कैसा है, उसके सिस्टम कैसे हैं, ये सब बहुत महत्वपूर्ण है। इस महत्व को समझते हुए हमें ये ध्यान रखना होगा कि हमारे लोकतांत्रिक मूल्य क्या हैं, रिलेशन बिटवीन लीडर्स क्या हैं, संगठन की विचार प्रक्रिया क्या है।” भाजपा अध्यक्ष ने राजनीतिक दलों के बीच पनप रहे परिवारवाद को लेकर निशाना साधते हुए कहा, “जो परिवारिक पार्टियां हैं, उनका उद्देश्य सिर्फ सत्ता पाना होता है। इनकी कोई विचारधारा नहीं है। इनके कार्यक्रम भी लक्ष्यविहीन होते हैं।”

उन्होंने कुछ दलों का जिक्र करते हुए कहा, “उड़ीसा में बीजू जनता दल, आंध्रप्रदेश में वाईएसआरसीपी, तेलंगाना में टीआरएस, तमिलनाडु में करुणानिधि परिवार, महाराष्ट्र में शिवसेना और एनसीपी ये सब परिवार की पार्टियां हैं।” जेपी नड्डा ने कहा, “जम्मू कश्मीर में पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस, पंजाब में शिरोमणि अकाली दल, हरियाणा में आईएनएलडी, उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी, बिहार में राजद, पश्चिम बंगाल में दीदी- भतीजे की पार्टी है, झारखंड में बाबू जी के बुजुर्ग होने के बाद बेटे ने पार्टी संभाल ली।”

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि क्षेत्रीय दलों को किसी भी तरह से सत्ता में आना होता है इसलिए ये धुर्वीकरण करने में भी पीछे नहीं रहती हैं। फिर धुर्वीकरण चाहे जाति के आधार पर करें, या धर्म के। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों को ताक पर रख दिया जाता है और सत्ता को पाने के लिए धुर्वीकरण किया जाता है।

जेपी नड्डा के इस बयान पर एक यूजर (@Amru1967) ने लिखा, “विचारधाराहीन और लक्ष्यवीहिन पार्टी की कुछ झलक……” इस ट्वीट के साथ भाजपा नेताओं और उनके पुत्र/पुत्रियों की एक लिस्ट शेयर करते हुए यूजर ने भाजपा पर तंज किया।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट