bjp president amit shah said will not leave president post - Jansatta
ताज़ा खबर
 

अध्यक्ष पद छोड़ने का सवाल ही नहीं: अमित शाह

राज्यसभा में जाने की स्थिति में भाजपा अध्यक्ष पद छोड़ने की अटकलों को विराम देते हुए अमित शाह ने कहा है कि उनका पार्टी अध्यक्ष पद छोड़ने का सवाल नहीं है।

Author लखनऊ | August 1, 2017 5:06 AM
भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (पीटीआई)

राज्यसभा में जाने की स्थिति में भाजपा अध्यक्ष पद छोड़ने की अटकलों को विराम देते हुए अमित शाह ने कहा है कि उनका पार्टी अध्यक्ष पद छोड़ने का सवाल नहीं है। वह अपनी जिम्मेदारी को पूरी खुशी और तन्मयता से निभा रहे हैं। उत्तर प्रदेश के तीन दिवसीय प्रवास के अंतिम दिन आयोजित संवाददाता सम्मेलन में शाह ने राज्यसभा का सदस्य बनने की स्थिति में अध्यक्ष पद से इस्तीफे के सवाल पर कहा, ‘कोई सवाल नहीं है। मुझ पर अध्यक्ष का दायित्व है। मैं खुश हूं और बड़ी तन्मयता से काम कर रहा हूं। आप लोग (मीडिया) धक्का मत लगाइये।’ नरेंद्र मोदी को आजादी के बाद देश का सबसे लोकप्रिय प्रधानमंत्री बताते हुए शाह ने कहा कि मोदी ने देश का सम्मान दुनिया में बढ़ाया है। मोदी के नेतृत्व में परिवारवाद, जातिवाद और तुष्टीकरण का नासूर खत्म करने में कामयाबी मिली है। शाह ने दावा किया कि 2019 में भाजपा और बड़े बहुमत से सरकार बनाएगी। इसमें कोई संशय नहीं है। मोदी सरकार का सुशासन ही इस दावे का आधार है। जिस तरह सरकार ने काम किया है, मुझे लगता है जनता हमें इससे ज्यादा बहुमत से काम करने का मौका बाकी पेज 8 पर देगी। भाजपा अध्यक्ष ने मोदी सरकार की सराहना करते हुए कहा कि इस सरकार के तीन साल में देश की जनता बहुत बड़ा परिवर्तन महसूस कर रही है।

भाजपा के सत्ता संभालने से पहले 10 साल तक एक ऐसी सरकार चली, जिसमें हर महीने घपले और घोटाले उजागर होते थे। करीब 12 लाख करोड़ रुपए के घोटाले हुए जबकि मोदी सरकार पर उसके विरोधी भी भ्रष्टाचार का एक आरोप तक नहीं लगा पाए हैं। शाह ने कहा कि मोदी सरकार की विशेषता यह रही है कि पिछले 50 साल में सरकारें दो-तीन ही ऐसे काम करती हैं, जो अहम होते हैं। इस सरकार ने तीन साल में 50 महत्त्वपूर्ण काम किए हैं। तीन साल में देश की अर्थव्यवस्था दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ता अर्थतंत्र बन गया है। शेयर बाजार सर्वोच्च शिखर पर पहुंचा है। सभी प्रकार के वित्तीय मानक भाजपा सरकार ने बरकरार किए हैं। उन्होंने कहा कि जब केंद्र में मोदी सरकार की रचना हुई तो प्रधानमंत्री ने कहा था कि यह गरीबों, पिछड़ों, दलितों, आदिवासयों और वंचितों की सरकार होगी। सरकार ने इन वर्गों का स्तर उठाने के लिए बहुत काम किए हैं। अमित शाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार बहुत अच्छा काम कर रही है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में जिस तरह प्रशासन का राजनीतिकरण हुआ, उसे सुधारने में कुछ समय लगेगा। लेकिन मैं उत्तर प्रदेश की जनता को आश्वस्त करता हूं कि यहां कानून का राज होगा।

सपा और बसपा के तीन एमएलसी के विधान परिषद की सदस्यता से इस्तीफा देने के सवाल पर उन्होंने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। सपा नेता शिवपाल यादव के भाजपा में शामिल होने पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है और न ही ऐसा कोई विचार है। भाजपा की ओर से उत्तर प्रदेश में अन्य दलों के लोगों को तोड़ने के आरोपों पर शाह ने कहा कि जो भी नेता अन्य दलों से भाजपा में आए, चुनाव के समय आए। लेकिन इसे लेकर कुप्रचार किया जा रहा है। जो भी नेता अन्य दलों से भाजपा में शामिल हुए, उन्हें जनादेश हासिल करने के लिए जनता के समक्ष उपस्थित किया गया। हमने सरकार का दुरुपयोग कर किसी को नहीं तोड़ा है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App