bjp president amit shah sad india pakistan champions trophy 2017: will continue to play at international tournaments - Jansatta
ताज़ा खबर
 

भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह बोले- न तो भारत पाकिस्‍तान में खेलने जाएगा, न ही पाक यहां आकर खेलेगा

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह 110 दिन भारत दौर पर हैं। जिसके तहत शनिवार को मुंबई पहुंचे हैं।

गुजरात में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह। (Source: Twitter/AmitShah)

आज (17 जून, 2017) महाराष्ट्र दौरे पर पहुंचे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में पाकिस्तान से क्रिकेट खेलने के मुद्दे पर कहा, ‘ना हम पाकिस्तान जाते हैं और ना ही पाकिस्तान भारत में आता है।’ दरअसल भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रिपोर्टर के उस सवाल का जवाब दे रहे थे जिसमें पूछा गया कि कश्मीर में जिस तरह के हालात चल रहे हैं, कल रात को ही 6 जवानों को मार दिया गया है। जी न्यूज ने भी भारत-पाकिस्तान मैच का कवरेज नहीं करना का फैसला लिया है। ऐसे में दोनों देशों के बीच जो मैच हो रहे हैं क्या उनका होना सही है? रिपोर्टर के इस सवाल का जवाब देते हुए अमित शाह ने कहा कि ये एक अंतर्राष्ट्रीय आयोजन का हिस्सा है। आपका क्या मानना है कि भारत कोई चैंपियंस ट्रॉफी ही ना खेले। भारत हर अंतर्राष्ट्रीय लीग से बाहर हो जाए। अंतर्राष्ट्रीय फोरम पर मैच होंगे तो खेलने ही होंगे। बता दें कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह 110 दिन भारत दौर पर हैं। जिसके तहत शनिवार को मुंबई पहुंचे हैं। इस दौरान केंद्र सरकार के कार्यकाल पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि ये दीनदयाल उपाध्याय की जन्म शताब्दी का साल है। तीन साल के कार्यकाल में हमारे विरोधी भी हमपर भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा सकते।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए अमित शाह ने आगे कहा, ‘देश की अर्थव्यवस्था को भाजपा सरकार ने दुनिया में सबसे तेजी से उभरती हुई अर्थव्यवस्था की कतार में खड़ा किया है। आर्थिक विकास के हर पैमाने पर सरकार बहुत आगे खड़ी है। सरकार ने गरीब, किसानों और आदिवासियों के लिए बहुत सारी योजनाएं बनाई। साथ ही इन योजनाओं को प्रत्येक व्यक्ति तक पहुंचाने का काम भी किया जा रहा है। यूपीए की पिछली सरकार निर्णय लेने में सक्षम नहीं थी। यूपीए की सरकार में हर मंत्री अपने आप को प्रधानमंत्री मानता था और प्रधानमंत्री को कोई प्रधानमंत्री नहीं मानता था। लेकिन भाजपा सरकार में ऐसा नहीं है।’

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा, ‘जब हम सरकार में आए तब देश के 60 करोड़ लोग ऐसे थे जिनके पूरे परिवार में किसी का बैंक खाता नहीं था। जनधन योजना के बाद 28 करोड़ से ज्यादा बैंक अकाउंट खोले गए। आज देश में एक भी ऐसा परिवार नहीं है जिसके घर में किसी सदस्य का बैंक अकाउंट ना खोला गया हो।’

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App