ताज़ा खबर
 

2022 तक संसद को नया रंग-रूप देना चाहती है नरेंद्र मोदी सरकार, आर्किटेक्ट्स से मांगे सुझाव

बता दें कि संसद के इस बार बढ़ाए हुए बजट सत्र के दौरान लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने सरकार से गुजारिश की थी कि वह सदन के नवीनीकरण पर भी सोचे, जिसमें आधुनिक सुविधाएं भी शामिल हों।

Parliament of India, Parliament, Lok Sabha, Rajya Sabha, New Parliament, Central Vista, Common Secretariat, Union Housing and Urban Affairs Ministry, India, 75th Independence Day, Government, Plan, New Parliament Building, Brand New Building, Redeveloped Version, Existing Historic Building, Narendra Modi, BJP, PM, NDA, National News, Hindi Newsसोमवार को विपक्ष के विरोध के बावजूद लोकसभा से RTI संशोधन बिल पारित हो गया। (फोटो सोर्स/ द इंडियन एक्सप्रेस)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार साल 2022 तक नई संसद बना सकती है या फिर मौजूदा पार्लियामेंट को नया स्वरूप दे सकती है। केंद्र चाहता है कि 15 अगस्त, 2022 को जब देश अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा होगा, तब देश में नया संसद भवन हो या फिर मौजूदा ऐतिहासिक इमारत का पुनःनिर्मित वर्जन सामने हो।

केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय से जुड़े सूत्रों के हवाले से ‘द हिंदू’ की रिपोर्ट में बताया गया कि केंद्र सरकार सेंट्रल विस्टा और कॉमन सेक्रेट्रिएट के नए स्वरूप को लेकर भी विचार-विमर्श में जुटी है।

गुरुवार (12 सितंबर, 2019) को सूत्रों ने यह भी बताया कि दो सितंबर को एक प्रस्ताव (आरएफपी) के जरिए दरख्वास्त की गई थी, जिसमें डिजाइन और आर्किटेक्चर कंपनियों को न्यौता दिया गया था। इन कंपनियों ने संसद के साथ तीन किमी में बने सेंट्रल विस्टा और केंद्र सरकार के सभी दफ्तरों के लिए नए कॉमन सेक्रेट्रिएट बनाने के लिए विचार और सुझाव मांगे गए थे।

पत्र में शास्त्री भवन सरीखी मौजूदा इमारतों को गिराने की बात भी शामिल थी। गुरुवार को इसी संबंध में शाम पांच बजे प्री-बिड मीटिंग भी प्रस्तावित थी। बता दें कि संसद के इस बार बढ़ाए हुए बजट सत्र के दौरान लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने सरकार से गुजारिश की थी कि वह सदन के नवीनीकरण पर भी सोचे, जिसमें आधुनिक सुविधाएं भी शामिल हों। राज्यसभा अध्यक्ष एम.वैंकेया नायडू ने भी इसी से मिलती-जुलती अपील की थी।

‘देश ने देखा मेरी सरकार का ट्रेलर देखा है, पूरी फिल्म तो बाकी है’: पीएम नरेंद्र मोदी ने आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ निर्णायक लड़ाई, मुस्लिम महिलाओं हितों की रक्षा व जम्मू कश्मीर के विकास के उपायों सहित सरकार के पहले 100 दिनों में उठाये गए कदमों का जिक्र करते हुए गुरुवार को झारखंड के रांची में कहा कि ‘इन सभी मामलों में देश ने अभी उनकी सरकार का बस ‘‘ट्रेलर देखा है, पूरी फिल्म तो अभी बाकी है।’’’

पीएम ने एक दिवसीय यात्रा में झारखंड के नव निर्मित विधानसभा भवन का उद्घाटन करने समेत कई योजनाओं का शुभारंभ करते हुए हुए यह बात कही। इस दौरान उन्होंने पूरे देश को किसानों के लिए पेंशन की प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना, व्यवसाइयों के लिए पेंशन की खुदरा व्यापारिक एवं स्वरोजगार पेंशन योजना एवं आदिवासी छात्रों के सर्वांगीण विकास के लिए एकलव्य मॉडल विद्यालय का भी शुभारंभ किया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 तबरेज अंसारी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट उठा रही हार्ट अटैक की पुलिस थ्योरी पर सवाल? बिना चोट कैसे टूटी खोपड़ी की हड्डी?
2 ‘लालबाग के राजा’ का कटा चालान, बीएमसी ने लगाया 60 लाख रुपये का जुर्माना
3 3 राज्यों में चुनाव से पहले सोनिया गांधी का महामंथन, महासचिवों, PCC अध्यक्षों, मुख्यमंत्रियों संग की बैठक
ये पढ़ा क्या?
X