ताज़ा खबर
 

कोविड प्रबंधन पर हुई बदनामी से निपटने के लिए BJP का प्लान, नड्डा ने भाजपाइयों को दिया निर्देश, जानिए आगे की रणनीति

कोरोना महामारी के दौरान केंद्र सरकार पर लगे कुप्रबंधन के आरोपों से निपटने के लिए भाजपा सेवा ही संगठन अभियान का दूसरा चरण शुरू करने में जुटी हुई है। भाजपा ने पिछले महीने ही इस कार्यक्रम को शुरू किया था।

मोदी कैबिनेट से विस्तार से पहले BJP चीफ नड्डा ने मांगा था मंत्रिुयों से इस्तीफा!। (एक्सप्रेस फोटो: अमित मेहरा)

कोरोना की दूसरी लहर में ख़राब प्रबंधन की वजह से हुई बदनामी से निपटने के लिए भाजपा ने अपना प्लान तैयार किया है। भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने अपने कार्यकर्ताओं को कोरोना टीकाकरण को बढ़ावा देने, महामारी से प्रभावित लोगों की मदद करने और जागरूकता फ़ैलाने का निर्देश दिया है। वहीं उत्तरप्रदेश में भी भाजपा आने पहले विधानसभा चुनाव से पहले डैमेज कंट्रोल में जुट गई है। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने मंत्रियों को निर्देश दिया है कि वे दो माह तक जिले में कैंप लगाएं और वहां चल रहे कामों को समीक्षा करें।

कोरोना महामारी के दौरान केंद्र सरकार पर लगे कुप्रबंधन के आरोपों से निपटने के लिए भाजपा सेवा ही संगठन अभियान का दूसरा चरण शुरू करने में जुटी हुई है। भाजपा ने पिछले महीने ही इस कार्यक्रम को शुरू किया था। इस कार्यक्रम के तहत भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कार्यकर्ताओं को टीकाकरण अभियान को बढ़ावा देने, राहत कार्यक्रम चलाने और जागरूकता बढ़ाने का निर्देश दिया है। साथ ही भाजपा कार्यकर्ताओं को यह सुनिश्चित करने को कहा गया कि 45 वर्ष और उससे अधिक उम्र के सभी लोगों को टीके की दोनों खुराक जरूर मिले।

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह की ओर से राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा के निर्देश वाला एक पत्र जारी किया गया है। पत्र में कहा गया है कि पार्टी कार्यकर्ता अस्पतालों और अन्य स्थानों पर जरूरतमंदों के लिए राशन किट और भोजन वितरण की व्यवस्था कराएं। इसके अलावा कार्यकर्ताओं से बीमार लोगों की मदद करने को भी कहा गया है। साथ ही स्थानीय पार्टी कार्यालय में थर्मल स्कैनर, ऑक्सीमीटर, होम टेस्ट किट और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की व्यवस्था करने को भी कहा गया है।

UP चुनाव से पहले CM योगी आदित्यनाथ का “डैमेज कंट्रोल”, मंत्रियों को निर्देश- दो माह तक जिलों में लगाएं कैंप

वहीं उत्तरप्रदेश में भी अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा सरकार डैमेज कंट्रोल में जुट गई है। कोरोना की दूसरी लहर में ख़राब स्वास्थ्य व्यवस्था और कुप्रबंधन की वजह से लोगों की आलोचनाओं का सामना कर रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सभी मंत्रियों को दो माह तक अपने अपने जिले में कैंप लगाने को कहा है। इस दौरान मंत्री अपने अपने जिलों में ब्लॉक स्तर पर भी कैंप लगाएंगे। मंत्री इस दौरान जिले में चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा भी करेंगे और स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ बैठक भी करेंगे।

इसके अलावा उत्तरप्रदेश सरकार के मंत्रियों को 27 जून को प्रसारित होने वाले मन की बात कार्यक्रम को प्रखंड स्तर के कार्यकर्ताओं के साथ सुनने को कहा गया है। सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना की दूसरी लहर के बाद पहली बार अपने मंत्रियों के साथ बैठक की। बैठक के दौरान अगले दो महीनों तक चलने वाले कार्यक्रम और मंत्रियों के जिले दौरे को लेकर भी चर्चा हुई। कैबिनेट मंत्रियों की बैठक में उत्तरप्रदेश सरकार के मंत्रियों को 21 जून को अपने जिलों में योग दिवस भी आयोजित करने को कहा गया है।

सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी सहित केंद्रीय मंत्रिपरिषद के अन्य सहयोगियों के साथ बैठक की। प्रधानमंत्री आवास पर हुई इस बैठक में भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा भी मौजूद थे। सूत्रों ने यह जानकारी दी। सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री ने पिछले सप्ताह भी इस प्रकार की बैठकें की थीं। उन्होंने बताया कि इन बैठकों के जरिए प्रधानमंत्री विगम दो वर्षों में विभिन्न मंत्रालयों में हुए कामकाज का लेखा जोखा ले रहे हैं और कई मुद्दों पर चर्चा कर रहे हैं।

इसी कड़ी में सोमवार को हुई पांचवीं बैठक में राजनाथ सिंह और गडकरी के अलावा केंद्रीय मंत्री डी वी सदानंद गौड़ा और विदेश राज्यमंत्री वी मुरलीधरन सहित कुछ अन्य मंत्री शामिल हुए। सूत्रों ने बताया कि भाजपा अध्यक्ष लगभग इन सभी बैठकों में उपस्थित थे। पिछले सप्ताह प्रधानमंत्री मोदी ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और जितेंद्र सिंह के साथ चर्चा की थी। राजनीतिक पर्यवेक्षकों और भाजपा नेताओं की मानें तो यह केंद्रीय मंत्रिपरिषद में विस्तार और फेरबदल के पहले की प्रक्रिया हो सकती है। (पीटीआई इनपुट्स के साथ)

Next Stories
1 लोजपा में टूट को जेडीयू ने बताया पारिवारिक विवाद, कांग्रेस नेता का आरोप- ये नीतीश का कारनामा
2 यूपीः राममंदिर जमीन विवाद में दो प्रॉपर्टी डीलरों को हुआ करोड़ों का मुनाफा, एक ने सपा के टिकट पर लड़ा था चुनाव
3 पश्‍च‍िम बंगाल: तृणमूल कांग्रेस में लौटने के ल‍िए 50 भाजपाइयों ने द‍िया धरना, तब हुई ‘घर वापसी’, दल-बदल पर शुभेंदु ने खोला मोर्चा
ये पढ़ा क्या?
X