दिल्ली चुनाव से पहले तीन चरणों में सर्वे का प्लान- आप सरकार की समीक्षा, मुद्दों का चयन और कैंडिडेट्स की तलाश करेगी भाजपा

Delhi Assembly Election: इस बार भाजपा को दिल्ली में ज्यादा सीट आने की उम्मीद है क्योंकि हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों में से 65 पर भगवा पार्टी को कांग्रेस और आप से ज्यादा वोट मिले।

भाजपा ने जयशंकर और ओबीसी नेता जुगलजी ठाकोर को उम्मीदवार बनाया है (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

Delhi Assembly Election: लोकसभा चुनाव में बड़ी जीत के मद्देनजर भाजपा अगले साल होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनावों के लिए राजनीतिक मुद्दों और बेहतर उम्मीदवारों के चयन के लिए कई सर्वेक्षण कराने की योजना बना रही है। दिल्ली भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने रविवार को बताया कि सत्तारूढ़ पार्टी अनेक मोर्चों पर काम कर रही है ताकि वह हाल के लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय राजधानी में मिले 55 प्रतिशत वोटों को फिर से हासिल कर अगले साल विधानसभा चुनाव में आसान जीत हासिल कर सके।

भाजपा नेता ने बताया कि पार्टी के संगठन महासचिव सिद्धार्थन ने दिल्ली के भाजपा नेताओं की हाल ही में हुई एक बैठक में कहा कि दिल्ली में मिले 55 प्रतिशत वोट हासिल करने के लिए प्रयास होने चाहिए। महाराष्ट्र, हरियाणा और झारखंड के साथ अक्टूबर-नवंबर में ही दिल्ली में समय से पहले चुनाव होने की संभावना के बाद पार्टी की नियमित बैठकें हो रही हैं।

दिल्ली भाजपा के एक और वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘‘आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए विधानसभा वार मुद्दों के चयन के लिए, दिल्ली में आप सरकार तथा उसके विधायकों के कामकाज का मूल्यांकन करने तथा हमारे उम्मीदवारों के चुनाव के लिए नेताओं की लोकप्रियता का विश्लेषण करने के उद्देश्य से तीन चरणों में सर्वेक्षणों की योजना है।’’ भाजपा नेताओं को 2015 के चुनाव में आम आदमी पार्टी से हार के बाद इस बार जीत की पूरी उम्मीद है।

पार्टी नेता ने कहा, ‘‘भाजपा दो दशक से सत्ता से बाहर है। इस बार हमारे पास बड़ा अवसर है। न केवल मोदी का जादू चल रहा है, बल्कि आप और उसके प्रमुख अरविंद केजरीवाल का प्रभाव भी कम हो रहा है।’’ बता दें कि वर्ष 2015 में दिल्ली में हुए विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने कुल 70 में से 67 सीटों पर जीत हासिल की थी। हालांकि, इस बार भाजपा को दिल्ली में ज्यादा सीट आने की उम्मीद है क्योंकि हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों में से 65 पर भगवा पार्टी को कांग्रेस और आप से ज्यादा वोट मिले। (भाषा इनपुट के साथ)

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
और तल्ख हो सकते हैं केंद्र व सपा सरकार के रिश्ते