ताज़ा खबर
 

मोदी सरकार में दोबारा वही मंत्रालय पाकर भड़की शिवसेना, बीजेपी आलाकमान को भिजवाया ‘मैसेज’

भाजपा की पुरानी सहयोगी शिवसेना मोदी सरकार में भारी उद्योग मंत्रालय मिलने से नाखुश है। पार्टी के रणनीतिकार का कहना है कि भाजपा ने शिवसेना को दूरसंचार, हेल्थ या रेलवे जैसे महत्वपूर्ण मंत्रालय नहीं दिए।

तस्वीर का प्रयोग प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (फाइल फोटो)

प्रचंड बहुमत से केंद्र की सत्ता में वापस लौटी मोदी सरकार में पार्टी के सांसद अरविंद सावंत को भारी उद्योग मंत्रालय मिलने से शिवसेना नाराज है। एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है। रिपोर्ट के मुताबिक, शिवसेना के एक रणनीतिकार ने कहा कि बीजेपी को अपने सबसे पुराने सहयोगी को कम से कम तीन कैबिनेट मंत्री का पद देना चाहिए था।

अगर ऐसा न भी हुआ तो कम से कम टेलिकम्युनिकेशन, स्वास्थ्य या रेलवे जैसा कम से कम एक अहम मंत्रालय दिया जाना चाहिए था। इसकी जगह पर शिवसेना को वही मंत्रालय मिला, जो उसे पिछली सरकार में भी मिला था। बता दें कि बीते 21 साल में शिवसेना को केंद्र सरकार में भारी उद्योग मंत्रालय 5 बार मिल चुका है।

सबसे पहले 1998 में बालासाहेब विखे पाटिल, फिर 1999 में मनोहर जोशी, 2004 में सुबोध मोहिते और 2014 से 2019 तक अनंत गीते को इस मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई। गीते हालिया लोकसभा चुनाव हार गए और अरविंद सावंत को उनकी जगह यह जिम्मेदारी दी गई।

शिवसेना सांसद संजय राउत ने दिल्ली में मीडियाकर्मियों से बातचीत में कहा, ‘हमने मंत्रालयों के बंटवारे को कोई मुद्दा नहीं बनाया क्योंकि इनका बंटवारा पीएम का विशेषाधिकार है। उद्धव जी यहीं थे और उन्हें इसकी जानकारी थी। इस संबंध में हमारा संदेश बीजेपी लीडरशिप को पहुंचाया जा चुका है।’

द टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि बीजेपी आलाकमान को भेजे गए संदेश में सेना की ‘चिंता’ से अवगत कराया गया है। हालांकि, राउत ने पीएम मोदी के फैसले का बचाव भी किया। राउत ने कहा, ‘ऐसा लगता है कि पूर्व में जिन पार्टियों को जो मंत्रालय दिए गए, उन्हें बरकरार रखा गया है। हमें विश्वास है कि बीजेपी भविष्य में शिवसेना की लोकसभा में ताकत का ख्याल रखेगी। मुझे नहीं लगता कि भारी उद्योग मंत्रालय अप्रासंगिक है।’ बता दें कि इससे पहले, जेडीयू ने भी एक मंत्री बनाए जाने का ऑफर ठुकराते हुए मोदी सरकार में हिस्सा न बनने का फैसला किया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पीएम के शपथ समारोह से गैरहाजिर रहीं प्रज्ञा ठाकुर, उनके साथ अटल स्मारक भी नहीं गईं
2 कांग्रेस संसदीय दल की नेता बनी रहेंगी सोनिया गांधी, राहुल ने कहा- भाजपा के खिलाफ हर दिन लड़ाई लड़ेंगे
3 बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के घर के सामने गाड़ी खड़ी कर लगा दी आग, कुत्ते को भी मार डाला, नेता बोले- मेरे परिवार को डराने की कोशिश