पश्चिम बंगाल में नतीजे के बाद भाजपा के दफ्तर में लगा दी आग, अमित मालवीय बोले- बंगाल फिर पांच साल झेलेगा

उधर, ममता बनर्जी का कहना है कि बीजेपी के लोगों ने टीएमसी नेता और आरामबाग की उम्मीदवार सुजाता मंडोल के सिर पर वार किया। उनका पीछा कर उन्हें जान से मारने की कोशिश की।

Bengal election, BJP Office Set On Fire, Trinamool Congress, Shubendu Adhikari, Amit Malviyaबंगाल के चुनाव नतीजे घोषित होने के बाद बीजेपी के दफ्तर को आग लगा दी गई (फोटोः ट्विटर@amitmalviya)

बंगाल के चुनावी नतीजे घोषित होने के साथ ही बीजेपी के आरामबाग कार्यालय को आग के हवाले कर दिया गया। बीजेपी का कहना है कि ये सब टीएमसी के इशारे पर हो रहा है। बीजेपी की आईटी सेल के चीफ अमित मालवीय का कहना है कि बंगाल को फिर से पांच साल इसी तरह झेलना होगा। उधर, ममता बनर्जी का कहना है कि बीजेपी के लोगों ने टीएमसी नेता और आरामबाग की उम्मीदवार सुजाता मंडोल के सिर पर वार किया। उनका पीछा कर उन्हें जान से मारने की कोशिश की।

बीजेपी की आई सेल के चीफ अमित मालवीय ने अपने हैंडल से एक वीडियो पोस्ट किया, जिसमें एक जगह में आग की लपटें दिखाई दे रही हैं। मालवीय ने कहा- टीएमसी के गुंडों ने परिणाम सामने आने के बाद बीजेपी के आरामबाग स्थित दफ्तर को आग लगा दी। बंगाल को 5 साल तक यही चीजें झेलनी होंगी। उनका कहना है कि विशनुपुर में एक बीजेपी एजेंट के घर को आग के हवाले कर दिया गया।

पार्टी का यह भी कहना है कि रविवार को कूचबिहार में भाजपा प्रत्याशी मिहिर गोस्वामी पर तृणमूल के लोगों ने हमला किया। उनकी कार पर पथराव किया गया। उनके कार्यालय में भी तोड़फोड़ की गई। कूचबिहार वही जगह है जहां चुनाव के दौरान अर्धसैनिक बलों की गोलियों से चार लोग मारे गए थे

उधर, रविवार को तृणमूल के फिर बंगाल में आने की खबरों के बीच सड़कों पर उनके वर्कर्स उतर आए। दोपहर में कोलकाता का एक वीडियो सामने आया, जिसमें स्पष्ट देखा जा सकता है तृणमूल के लोग सड़कों पर उतर आए थे। वो भाजपा कार्यालय के बाहर आकर नारेबाजी कर रहे थे। बीजेपी और टीएमसी की तनातनी लंबे समय से चल रही है। बीजेपी का अक्सर यह आरोप रहता है कि टीएमसी ने उसके सैकड़ों वर्कर्स और नेताओं की जान ली है।

पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह सार्वजनिक मंचों से टीएमसी पर इस तरह के आरोप लगा चुके हैं। चुनाव के दौरान नंदीग्राम के प्रत्याशी शुभेंदु अधिकारी पर हमला हुआ था तो उनके भाई की कार तोड़ दी गई थी। हालांकि, टीएमसी बीजेपी को हिंसा के लिए दोषी करार देती है। उसका कहना है कि बीजेपी के लोगों ने बंगाल में आकर सांप्रदायिक वैमनस्य फैलाने की कोशिश की है।

Next Stories
1 केंद्र सरकार ने कोरोना केसेज में बढ़ोतरी की अनदेखी की- वैज्ञानिक सलाहकारों के फोरम का दावा
2 राकेश टिकैत और 12 अन्य के खिलाफ हरियाणा में केस दर्ज, धारा-144 तोड़ की थी महापंचायत
3 दो का पहाड़ा नहीं सुना पाया दूल्हा तो दूल्हन ने लौटा दी बारात, पैसे भी देने पड़े
यह पढ़ा क्या?
X