ताज़ा खबर
 

केंद्रीय मंत्री ने कहा- लोकसभा चुनावों के लिए भाजपा को सहयोगियों की जरूरत

कर्नाटक में बहुमत हासिल करने में विफलता के मद्देनजर गोवा में भाजपा की सीख के सवाल पर केंद्रीय आयुष राज्य मंत्री श्रीपद नाईक ने कहा, "हम एक हाथ से ताली नहीं बजा सकते। हम उनका हमेशा स्वागत करते हैं। जो भी हमारे साथ आना चाहते हैं, हम उन्हें अपने साथ रखेंगे।"

एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाईक। (Express photo by Anil Sharma 17.10.2017)

केंद्रीय आयुष राज्य मंत्री श्रीपद नाईक ने रविवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गोवा में आगामी लोकसभा चुनावों के लिए सहयोगियों से समर्थन की उम्मीद कर रही है। कर्नाटक में बहुमत हासिल करने में विफलता के मद्देनजर गोवा में भाजपा की सीख के सवाल पर नाईक ने कहा, “हम एक हाथ से ताली नहीं बजा सकते। हम उनका हमेशा स्वागत करते हैं। जो भी हमारे साथ आना चाहते हैं, हम उन्हें अपने साथ रखेंगे।” नाईक उत्तरी गोवा संसदीय निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा सांसद है। वह राज्य के वरिष्ठ नेताओं में से एक हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा को कर्नाटक में बड़ा फायदा हुआ है। वहां पार्टी की सीट पहले से दोगुनी से ज्यादा हो गई है।

भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को गुवाहाटी में कहा कि मिजोरम विधानसभा चुनाव के बाद पूर्वोत्तर कांग्रेस मुक्त हो जाएगा। मिजोरम में इस साल के अंत में चुनाव होना है। उन्होंने कहा, “पूर्वोत्तर में हमने पहले असम में चुनाव जीता, उसके बाद मणिपुर और उसके बाद त्रिपुरा। त्रिपुरा में हमें लोगों ने भारी जनादेश दिया।” उन्होंने कहा, “नागालैंड और मेघालय में भाजपा के समर्थन से नीडा सत्ता में है। चुनाव बाद मिजोरम भी कांग्रेस मुक्त हो जाएगा।” शाह ने कहा, “इस साल के अंत में मिजोरम में चुनाव के बाद पूर्वोत्तर के सभी आठ मुख्यमंत्री यहां एक साथ बैठे होंगे।”

कर्नाटक में भाजपा को दो दिन की सरकार चलाने के बाद सत्‍ता छोड़नी पड़ी। भाजपा के पास 104 विधायक, और बहुमत के लिए उसे कम से कम आठ विधायकों की और जरूरत थी। हालांकि सुप्रीम कोर्ट में मुंह की खाने के बाद शनिवार (19 मई) को बहुमत परीक्षण से पहले ही मुख्‍यमंत्री बीएस येदियुरप्‍पा ने इस्‍तीफा दे दिया। इसके बाद जेडीएस के एचडी कुमारस्‍वामी ने सरकार बनाने का दावा पेश किया। सदन में जद(एस) (36) और कांग्रेस (78) गठबंधन के पास 117 सदस्य हैं। तीन अन्य विधायकों के समर्थन के साथ कुमारस्वामी के पास आवश्यक 111 विधायकों से छह ज्यादा विधायक हैं।

जद(एस) अध्यक्ष और पूर्व प्रधानमंत्री एच.डी. देवेगौड़ा के बेटे कुमारस्वामी दूसरी बार कर्नाटक के मुख्यमंत्री बन रहे हैं। इससे पहले वह चार फरवरी, 2006 में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के समर्थन से मुख्यमंत्री बने थे और 20 महीनों तक मुख्यमंत्री पद पर रहे थे।

Next Stories
1 कांग्रेस प्रवक्ता बोले- पीएम मोदी संवेदनहीन, सौतेले बेटे, अपनों को भूले!
2 BSF ने दिया गोलीबारी का ऐसा जवाब कि पाक रेंजर्स ने फोन कर कहा- प्‍लीज, फायरिंग रोक दो
3 दुनिया का छठा सबसे अमीर देश है भारत, कुल 8,230 अरब डॉलर की संपत्ति
ये  पढ़ा क्या?
X