ताज़ा खबर
 

क्रिसमस पर कांग्रेस मुख्यालय में रही छुट्टी, पर भाजपा दफ्तर में मीटिंग लेते रहे अमित शाह

भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ने पार्टी महासचिवों के साथ बैठक कर कुछ महत्‍वपूर्ण फैसले लिए।

Author नई दिल्‍ली | December 26, 2017 9:50 AM
भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह। (फाइल फोटो, पीटीआई)

क्रिसमस के मौके पर सरकारी और निजी संस्‍थानों के साथ ही राजनीतिक दलों के कार्यालय भी बंद रहते हैं। लेकिन, भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह के लिए हर दिन काम का होता है। यही वजह है कि उन्‍होंने क्रिसमस की छुट्टी होने के बावजूद सोमवार को भाजपा के महासचिवों के साथ बैठक की थी। इसमें मौजूदा स्थितियों पर विचार-विमर्श किया गया था। साथ ही कुछ अहम फैसले भी लिए गए। वहीं, छुट्टी का दिन होने के कारण विपक्षी पार्टी कांग्रेस का मुख्‍यालय बंद था।

भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह ने महासचिवों की बैठक में कुछ महत्‍वपूर्ण फैसले लिए हैं। इसमें सबसे अहम अगले साल अप्रैल तक देश के सभी जिलों में जहां पार्टी कार्यालय नहीं है, वहां ऑफिस खोलने का लक्ष्‍य रखा गया है। महासचिवों की बैठक में इसके लिए बकायदा अभियान चलाने की जरूरत पर जोर दिया गया था। देश के हर जिले में पार्टी कार्यालय खोलने के पीछे भाजपा की पहुंच देश के दूर-दराज के इलाकों तक करने की रणनीति है। केंद्र में सत्‍तारूढ़ पार्टी उत्‍तर और पश्चिम भारत में पहले ही अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज करा चुकी है। ऐसे में अब पार्टी देश के बचे हुए हिस्‍सों तक पहुंचने की जुगत में जुटी है। खासकर दक्षिण भारत, पूर्वोत्‍तर और पश्चिम बंगाल जैसे राज्‍यों में पांव जमाने की कोशिश की जा रही है। पिछले कुछ वर्षों में भाजपा ने ऐसे राज्‍यों में अपनी गतिविधियों को नई रफ्तार दी है। इसी का नतीजा है कि पार्टी का अधिवेशन ओडिशा में आयोजति में किया गया था। इसके अलावा केरल में अमित शाह ने विरोध-प्रदर्शन अभियान का खुद नेतृत्‍व किया था।

भाजपा मुख्‍यालय का उद्घाटन अगले साल: सभी जिलों में कार्यालय के साथ ही अगले साल भाजपा का मुख्‍यालय भी बनकर तैयार हो जाएगा। पार्टी ने साल के शुरुआत में ही इसके उद्घाटन की योजना बनाई है। इस हाईटेक मुख्‍यालय में सभी तरह की सुविधाएं उपलब्‍ध रहेंगी। पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ ही मीडिया के लिए भी विशेष व्‍यवस्‍था होने के बात कही जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App