ताज़ा खबर
 

श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने असम को पाकिस्तान से बचाया, हम इसके हिंदुओं को बचाएंगे, बोले भाजपा महासचिव राम माधव

राम माधव ने कहा कि हम श्यामाप्रसाद मुखर्जी के अनुयायी हैं, बंगालियों को पर्याप्त सुरक्षा उपलब्ध कराना बंगाल के हमारे महान नेता के प्रति श्रद्धांजलि होगी।

Author सिलचर | Published on: September 21, 2019 2:18 PM
राम माधव सिलचर में पार्टी के पूर्व विधायक दिवंगत बिमोलांगशु रॉय की जन्मदिवस पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे। (फोटोः इंडियन एक्सप्रेस)

Biswa Kalyan Purkayastha

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने पाकिस्तान के संदर्भ में असम के हिंदुओं को लेकर नया बयान दिया है। राम माधव ने कहा कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने असम को पाकिस्तान से बचाया था। हम अब असम के हिंदुओं की रक्षा करेंगे। भाजपा नेता ने एनआरसी में त्रुटियों के लिए पिछली सरकारों को जिम्मेदार ठहराया।

राम माधव ने ने कहा कि पिछली सरकारों की अक्षमता के कारण साल 1951 में एनआरसी असम को छोड़कर पूरे देश में किया गया था। कांग्रेस सरकार ने साल 1950 में सफलता पूर्वक असम समझौता पारित कर दिया लेकिन एनआरसी को नजरअंदाज कर दिया। इससे प्रक्रिया में 70 साल की देरी हो गई।

उन्होंने इस बात पर जोर देकर कहा कि हम कई देर से चल रही परियोजनाओं से निपट रहे हैं। ऐसे में इनमें त्रुटि होना स्वाभाविक है। माधव ने कहा कि मैं असम के लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि हम समस्याओं को दूर कर देंगे। हमारी सरकार वास्तविक भारतीयों की सुरक्षा करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसमें वह हिंदू भी शामिल हैं जो 31 दिसंबर 2014 से पहले भारत में आए हैं।

भाजपा महासचिव सिलचर में पार्टी के पूर्व विधायक दिवंगत बिमोलांगशु रॉय की जन्मदिवस पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे। कार्यक्रम का आयोजन बीमोलांगशु रॉय फाउंडेशन की तरफ से सिलचर मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के प्रांगण में किया गया था। भाजपा महासचिव ने अपने संबोधन में श्यामा प्रसाद मुखर्जी का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने असम को पाकिस्तान से बचाने में भूमिका निभाई थी।

राम माधव ने कहा कि हम श्यामाप्रसाद मुखर्जी के अनुयायी हैं, बंगालियों को पर्याप्त सुरक्षा उपलब्ध कराना बंगाल के हमारे महान नेता के प्रति श्रद्धांजलि होगी। उन्होंने कहा कि डॉ. मुखर्जी ने वास्तव में असम को पाकिस्तान से बचाया था। असम ग्रुप सी राज्य था और विभाजन के दौरान इसे पूर्वी पाकिस्तान का हिस्सा माना जा रहा था। लेकिन डॉ. मुखर्जी और गोपीनाथ बारदोलोई ने इसे बचाया। उन्होंने आगे कहा कि जिन्ना ने भारत का विभाजन किया और डॉ. मुखर्जी ने असम को बचाकर पाकिस्तान का विभाजन किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Elections 2019 Dates: महाराष्ट्र और हरियाणा में 21 अक्टूबर को चुनाव, 24 को आएंगे नतीजे, जानें पूरी डिटेल्स
2 Maharashtra, Haryana Assembly Elections 2019 Date Updates: हरियाणा-महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को मतदान, यहां पढ़ें पूरी डिटेल्स
3 मुलायम सिंह यादव की मर्सिडीज की सर्विसिंग का खर्च 26 लाख! योगी सरकार बदलेगी कार