ताज़ा खबर
 

कार्यकारिणी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बोले- आलोचना से डरना और आरोपों से घबराना नहीं

प्रधानमंत्री मोदी ने भाजपा की राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी में गरीब कल्‍याण पर जोर दिया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा की राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी में गरीब कल्‍याण पर जोर दिया। (Photo:PTI)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा की राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी में गरीब कल्‍याण पर जोर दिया। उन्‍होंने कहा कि पांच राज्‍यों में होने वाले विधानसभा चुनावों में भाजपा की जीत होगी। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पीएम मोदी के भाषण की जानकारी देते हुए कहा, ”प्रधानमंत्री ने कहा, भाजपा के कार्यकर्ता हवा में बहते नहीं हवा का रुख मोड़ने की शक्ति रखते हैं। गरीब और गरीबी हमारे लिए चुनाव जीतने का माध्यम नहीं है, गरीब की सेवा प्रभु की सेवा समान है। हम इन्‍हें सिर्फ वोट बैंक के चश्‍मे से नहीं देखते।” प्रधानमंत्री ने इसके साथ ही कालेधन और भ्रष्टाचार से मुकाबले के लिए नोटबंदी को एक दीर्घकालिक उपाय के तौर पर रेखांकित किया जिससे गरीबों का जीवन स्तर बेहतर बनाया जा सकेगा।

पीएम मोदी ने बैठक के दौरान राजनीतिक पार्टियों को मिलने वाली फंडिंग में पारदर्शिता पर जोर देने की बात भी कही। प्रसाद ने बताया, ”मैं गरीबी में जन्‍मा हूं और गरीबी में बढ़ा हूं। आलोचना से डरना नहीं है और आरोपों से घबराना नहीं है। हमारी सच्चाई और संकल्प हमें आगे ले जाएगी” उन्होंने यह कहने के लिए संस्कृत के एक श्लोक का इस्तेमाल किया कि उन्हें सत्ता, स्वर्ग या पुनर्जन्म का मोह नहीं है, वह तो केवल लोगों का दुख दर्द मिटाना चाहते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि राजनीतिक पार्टियों को होने वाली फंडिंग में पारदर्शिता के लिए भाजपा सक्रिय भूमिका निभाएगी। प्रसाद ने बताया, ”बैठक में प्रधानमंत्री ने एक महत्‍वपूर्ण बात कही कि राजनीतिक प्रक्रिया में पारदर्शिता की जरुरत है। जब देश पारदर्शिता को अपना रहा है तो राजनीतिक पार्टियों के लिए भी इसकी जरुरत है।” केंद्रीय मंत्री ने आगे बताया कि पीएम ने बूथ लेवल पर लोगों तक पहुंचने पर जोर दिया। उन्‍होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वे गरीबों के कल्‍याण की योजनाओं के बारे में पिछड़ों और वंचितों को जानकारी दें। प्रधानमंत्री ने कहा कि बूथ लेवल पर जितनी मेहनत होगी चुनाव में नतीजे उतने ही अच्‍छे होंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App