ताज़ा खबर
 

BJP सांसद उदित राज ने भी महिषासुर को शहीद माना, स्‍मृति ईरानी ने जताई थी आपत्ति

मानव संसाधन मंत्री स्‍मृति ईरानी ने संसद में कहा था कि जेएनयू में वामपंथी छात्र महिषासुर शहीदी मनाते हैं। यह कैसी अभिव्‍यक्ति की आजादी है।

भाजपा सांसद उदित राज।

भाजपा सांसद उदित राज भी जवाहर लाल नेहरु यूनिवर्सिटी में महिषासुर शहादत दिवस कार्यक्रम में शामिल हुए थे। उन्‍होंने कहा कि वे अक्‍टूुबर 2013 में इस कार्यक्रम में शामिल हुए थे। गौरतलब है कि मानव संसाधन मंत्री स्‍मृति ईरानी ने संसद में कहा था कि जेएनयू में वामपंथी छात्र महिषासुर शहीदी मनाते हैं। यह कैसी अभिव्‍यक्ति की आजादी है। क्‍या कोलकाता में कोई इस बारे में बहस कर सकता है। उन्‍होंने राज्‍य सभा में भी इस बात का जिक्र किया जिस पर काफी हंगामा हुआ।

उदित राज ने टेलीग्राफ अखबार को बताया, ‘मैं महिषासुर शहादत दिवस कार्यक्रम में शामिल हुआ क्‍योंकि में जाति भेदभाव को बुरा मानता हूं। मैं अंबेडकर के विचारों को रखने के लिए गया था।’ बाद में उन्‍होंने एक टीवी चैनल से कहा, ‘अंबेडकर ने महिषासुर को हीरो माना था। मैं अंबेडकर का अनुयायी हूुं। मैं उस समय भाजपा में नहीं था। महिषासुर दलितों के पूर्वज है और मैं उन्‍हें शहीद मानता हूं।’ बता दें कि उदित राज 2014 लोकसभा चुनावों से पहले ही भाजपा में शामिल हुए थे। वे दिल्‍ली से सांसद हैं।

Read Alsoलोकसभा में जमकर बरसी स्‍मृति ईरानी, PM ने ट्वीट किया भाषण का वीडियो, लिखा-सत्‍यमेव जयते

उदित राज ने हालांकि कहा कि देवी दुर्गा के लिए जिन शब्‍दों का इस्‍तेमाल किया गया वे उनसे ताल्‍लुक नहीं रखते। जेएनयू परिसर में महिषासुर शहादत दिवस 2011 के बाद से हर साल अक्‍टूबर में मनाया जाता था। कई पिछड़ी जातियां महिषासुर की पूजा करती हैं। उनका मानना है कि महिषासुर ने ब्राह्मणों को चुनौती दी इससे घबराकर देवताओं ने उसकी हत्‍या करा दी।

Read Alsoसंसद में मायावती से बोलीं स्‍मृति ईरानी…तो अपना सिर काटकर आपके चरणों में रख दूंगी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories