ताज़ा खबर
 

BJP MP वरुण गांधी ने की रोहिंग्या मुसलमानों को शरण देने की अपील, केन्द्रीय मंत्री बोले- देश हित में सोचने वाले ऐसा नहीं कहते

केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने कहा कि जो देश के हित में सोचेगा वो इस तरह के बयान नहीं देगा।
भाजपा सांसद वरुण गांधी। (फाइल फोटो)

बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने कहा है कि भारत को म्यांमार से आए रोहिंग्या मुस्लिम शरणार्थियों को शरण देना चाहिए। एक अखबार में लिखे लेख में सुल्तानपुर से बीजेपी सांसद ने कहा कि हमें रोहिंग्या मुसलमानों को शरण देने या ना देने का फैसला करने से पहले भारत की सांस्कृतिक परंपराओं का ध्यान रखना चाहिए। वरुण गांधी ने लिखा कि, ‘आतिथ्य सत्कार और शरण देने की अपनी परंपरा का पालन करते हुए हमें शरण देना निश्चित रूप से जारी रखना चाहिए। लेकिन वरुण गांधी की इस अपील को देश की सरकार ने खारिज कर दिया है। केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने कहा कि जो देश के हित में सोचेगा वो इस तरह के बयान नहीं देगा।

वरुण गांधी ने अपने लेख में बताया कि भारत को शरणार्थियों को शरण देना जारी रखना चाहिए। उन्होंने लिखा, ‘जिन इलाकों में बड़ी संख्या में शरणार्थी हों, वहां तनाव और भेदभाव कम करने के लिए स्थानीय निकायों को आगे बढ़ कर मकान मालिकों और स्थानीय एसोसिएशनों को इनके प्रति संवेदनशील बनाने के लिए कदम उठाने चाहिये।’ इसके साथ ही उन्होंने भारत सरकार से स्पष्ट रिफ्यूजी नीति भी बनाने की अपील की। हालांकि वरुण गांधी ने कहा कि देश की सुरक्षा की दृष्टि से रोहिंग्या मुसलमानों को शरण देने से पहले उनके रिकॉर्ड भी चेक किये जाने चाहिए। बीजेपी सांसद ने लिखा, ‘हमें म्यांमारी रोहिंग्या शरणार्थियों को शरण जरूर देनी चाहिए लेकिन इससे पहले वैध सुरक्षा चिंताओं का आकलन भी करना चाहिए।’ वरुण गांधी ने कहा कि दिल्ली में रहने वाले ज्यादातर अफगानियों और म्यांमारियों को मकान मालिकों के भेदभाव का सामना करना पड़ता है।

हालांकि केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर द्वारा वरुण गांधी के इस बयान पर सवाल उठाये जाने के बाद वरुण को सफाई देनी पड़ी। वरुण गांधी ने ट्वीट कर लिखा कि उन्होंने भारत की शरण देने की नीति पर चर्चा की थी और जहां तक रोहिंग्या मुसलमानों के लिए दया भाव का सवाल है तो उन्हें शरण देने से पहले सभी की जांच की जानी चाहिए।

बता दें कि केन्द्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा देकर कहा है कि रोहिंग्या मुसलमान भारत में अवैध रूप से रह रहे हैं और वे देश की सुरक्षा के लिए खतरा साबित हो सकते हैं। केन्द्रीय खुफिया एजेंसियों ने रोहिंग्या मुसलमानों के आतंकी समूहों के साथ संबंधों को लेकर रिपोर्ट दी है। भारत में इस वक्त लगभग 40 हजार रोहिंग्या मुसलमान रह रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.