ताज़ा खबर
 

PM मोदी इंडिया टुडे का ताजा अंक देखेंगे तो बोलेंगे ‘ईटी टू ब्रुटे’- चरमराई अर्थव्यवस्था पर बीजेपी सांसद ने लिखा, हुए ट्रोल

उनके इस ट्वीट पर कई मोदी समर्थक उन्हें ट्रोल करने लगे। ट्विटर यूजर कमलेश दीवानिया उन्हें जवाब देते हुए लिखा है कि हमने मोदी जी को प्रधानमंत्री के रूप में चुना है आपको नहीं। अतः उन्हें निर्णय लेने दीजिये। आप सरकार को अपना काम करने दीजिये।

Narendra Modi, Nirmala Seetaraman, Subramanyam Swami, India Todayबीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः कमलेश्वर सिंह)

वैश्विक महामारी कोविड-19 के भीषण प्रकोप की वजह से अर्थव्यवस्था में मंदी के संकेत नज़र आने लगे हैं। महामारी से बचाव के लिए लगाये गये लॉकडाउन की वजह से कई लोगों को अपनी नौकरी गवांनी पड़ी है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकॉनमी (सीएमआईई) के आंकड़ों में यह बात सामने आई है कि अप्रैल से अब तक 1। 89 करोड़ लोगों को नौकरी से हाथ धोना पड़ा है। अर्थव्यवस्था की इसी खस्ता हालत पर भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट कर के प्रधानमंत्री मोदी पर तंज कसा है।

अपने ट्वीट में स्वामी ने लिखा है कि यदि प्रधानमंत्री मोदी इस बार की ‘इंडिया टुडे’ पत्रिका का शीर्षक ‘अर्थव्यवस्था बीमार है’ देखेंगे तो कहेंगे कि ‘एट टू ब्रूट’।


उनके इस ट्वीट पर कई मोदी समर्थक उन्हें ट्रोल करने लगे। ट्विटर यूजर कमलेश दीवानिया उन्हें जवाब देते हुए लिखा है कि हमने मोदी जी को प्रधानमंत्री के रूप में चुना है आपको नहीं। अतः उन्हें निर्णय लेने दीजिये। आप सरकार को अपना काम करने दीजिये। आपने जो अटल जी के साथ किया था हम उसे कभी नहीं भूल सकते है।

आपको बता दें कि अटल बिहारी वाजपेयी की 13 महीने की सरकार गिराने में सुब्रमण्यम स्वामी की भी भूमिका बताई जाती है।
प्रहलाद पाटीदार ने लिखा कि ‘इंडिया टुडे’ का कोई महत्व नहीं है। वह निरर्थक चीजें प्रकाशित करता है। भारत की अर्थव्यवस्था कई अन्य बड़ी अर्थव्यवस्थाओं से बेहतर है। और आप को भी वित्त मंत्री का पद नहीं मिलने वाला है। इसलिए इस सब का कोई मतलब नहीं है।


रविन्द्र ने सुब्रमण्यम स्वामी को उनका ही एक पुराना बयान याद दिलवाया। जिसमें उन्होंने कहा था कि आर्थिक प्रगति कोई मायने नहीं रखती है। भाजपा हिंदुत्व के मुद्दे पर बार बार चुनाव जीतती रहेगी।


यूजर राधा ने स्वामी को अपने जवाब में उनकी ठाकरे परिवार के साथ कुछ फोटो को लगाया है और तंज कसते हुए लिखा है कि बीजेपी राज्यसभा का फिर से टिकट नहीं दे रही है। दिल जलना स्वभाविक है। अब शिवसेना में जाना। पेंगुइन को बचाना।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘मत भूलें, हिमालय है तो हम हैं’, भाजपा सरकार की 12,000 करोड़ खर्चीली अहम योजना को रामचंद्र गुहा ने बताया पर्यावरण के लिए खतरा
2 अब कंप्यूटर गेम्स में चीन को चुनौती देगा भारत, ‘मन की बात’ में पीएम मोदी ने युवाओं से की खास अपील
3 16 लाख छात्रों के लिए सिर्फ 3843 सेंटर? NEET, JEE परीक्षा के खिलाफ ट्रेंड कर रहा Mann_Ki_Nahi_Students_Ki_Baat, वरिष्ठ पत्रकार ने बताईं 25 लाखों छात्रों की उलझनें
ये पढ़ा क्या ?
X