बीजेपी सांसद ने उठाया सवाल, राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद का बजट अचानक 10 गुना कैसे बढ़ा, पेगासस जासूसी कांड को लेकर भी कही ये बात

बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के बजट को लेकर केंद्र सरकार पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि सरकार को स्पष्ट करना चाहिए कि 333 करोड़ रुपये में से 300 करोड़ रुपये वास्तव में कहां गए हैं?

Pegasus NSO, subramanian swamy
पेगासस को लेकर स्वामी ने साधा केंद्र पर निशाना (प्रतीकात्मक फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने एक बार फिर से मोदी सरकार पर निशाना साधा है। स्वामी ने इस बार राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के बढ़े हुए बजट पर सरकार से जवाब मांगा है। इसके साथ ही उन्होंने पेगासस जासूसी मामले पर भी प्रतिक्रिया दी है।

सुब्रमण्यम स्वामी ने शुक्रवार को एक ट्वीट में कहा कि उन्होंने राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के बजट की जानकारी मांगी थी। पिछले तीन सालों में परिषद का बजट 10 गुना बढ़ गया है। उन्होंने कहा- “संसद पुस्तकालय में मैंने भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद सचिवालय का बजट मांगा। मैंने तीन साल के लिए आवंटन मांगा था, जिसमें 2014-15 में 44 करोड़ रुपये; 2016-17 में 33 करोड़ रुपये और 2017-18: में 333 करोड़ रुपये; यह छलांग क्यों? क्योंकि एक नया प्रमुख जोड़ा गया था: “साइबर सुरक्षा अनुसंधान एवं विकास”।

उन्होंने आगे सीधे पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि मोदी सरकार के प्रवक्ता को स्पष्ट करना चाहिए कि आवंटित 333 करोड़ रुपये में से 300 करोड़ रुपये वास्तव में कहां गए हैं? पेगासस को लेकर उन्होंने कहा- “मुद्दा यह है कि क्या यह मामला कानूनी रूप से या अवैध रूप से किया गया था। कानूनी तौर पर इसका मतलब है कि इसे कैबिनेट में लाया गया और एक प्रस्ताव पारित किया गया। लेकिन अगर यह सिर्फ राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) और शायद कुछ राजदूत थे जिन्हें पीएम से मंजूरी मिली, तो फ्रांस की तरह, पीएम अभियोजन के लिए दोषी होंगे”।

पेगासस स्पाइवेयर के इस्तेमाल और इसके जरिए जासूसी करने को लेकर अभी तक केंद्र सरकार की ओर से कोई स्पष्ट जवाब नहीं दिया गया है। इस मुद्दे पर विपक्ष ने मोदी सरकार पर नेताओं, पत्रकारों और सामाजिक कार्यकर्ताओं की जासूसी करने का आरोप लगाया है। कांग्रेस ने इस मामले पर संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) या सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में मामले की जांच की मांग की है। अब इसी को लेकर स्वामी ने सवाल उठाया है कि 2017-18 में राष्ट्रीय सुरक्षा आयोग (एनएससी) का बजट अचानक 10 गुना क्यों बढ़ गया?

केंद्र सरकार पर 2017-18 में ही पेगासस स्पाईवेयर खरीदने का आरोप भी लगा है। दरअसल, एक रिपोर्ट में दावा किया गया था कि जिस भी देश में तत्कालीन इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू गए थे, वहां पेगासस स्पाइवेयर की डील हुई थी।

पेगासस को लेकर मोदी सरकार की काफी किरकिरी हो चुकी है। सुप्रीम कोर्ट से भी इस मामले को लेकर सरकार को फटकार लग चुकी है। सर्वोच्च अदालत ने सरकार की ओर से इस मामले पर जवाब नहीं मिलने पर खुद एक जांच कमेटी भी बना दी है। जिसके कार्य को खुद सुप्रीम कोर्ट ही देखेगी।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट