bjp mp subramanian swamy on ram mandir issue - बीजेपी सांसद ने कहा- चापलूसों को मलाई ख‍िलाना छोड़े भाजपा, राम मंद‍िर के ल‍िए जमीन दे सरकार - Jansatta
ताज़ा खबर
 

बीजेपी सांसद ने कहा- चापलूसों को मलाई ख‍िलाना छोड़े भाजपा, राम मंद‍िर के ल‍िए जमीन दे सरकार

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि उपचुनाव के नतीजे पार्टी के लिए बड़ा झटका है। लेकिन अगर पार्टी चापलूसों को मलाई खिलाना छोड़ दे तो जल्दी ही इसमें सुधार आ सकता है। भाजपा में ताकत है वापसी करने की लेकिन जरूरत है नए अपने प्रकृति के अनुरुप फैसले लेने की।

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सासंद सुब्रमण्यम स्वामी (Photo: PTI)

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा है कि भाजपा चापलूसों को मलाई खिलाना छोड़े। सुब्रमण्यम स्वामी ने राम मंदिर का मुद्दा उठाते हुए यह भी कहा है कि सरकार राम मंदिर के लिए जमीन उपलब्ध कराए। दरअसल कुछ दिनों पहले अलग-अलग राज्यों में हुए उपचुनाव के नतीजे गुरुवार (30 मई) को घोषित किये गये। इन नतीजों में भाजपा को करारी हार मिली। इसके बाद राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने पार्टी को नसीहत देते हुए दो ट्वीट किये।

अपने पहले ट्वीट में सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि उपचुनाव के नतीजे पार्टी के लिए बड़ा झटका है। लेकिन अगर पार्टी चापलूसों को मलाई खिलाना छोड़ दे तो जल्दी ही इसमें सुधार आ सकता है। भाजपा में ताकत है वापसी करने की लेकिन जरूरत है नए अपने प्रकृति के अनुरुप फैसले लेने की। सुब्रमण्यम स्वामी ने शुक्रवार (1 मई) को दूसरा ट्वीट किया। इस ट्वीट में उन्होंने कहा कि पार्टी को वो करने की जरूरत है जिसकी वजह से बीजेपी को लोगों ने इतना पसंद किया। उन्होंने कहा कि सरकार को जल्द से जल्द राम मंदिर के लिए जमीन उपलब्ध करवाना चाहिए।

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि फास्ट्र ट्रैक अदालतों में सुनवाई कराकर टीडीके , बैमबिनो, पीसी+जीएसटी इत्यादि को जेल भेजवाना चाहिए। यहां टीडीके से सोनिया गांधी, बैम्बिनो से राहुल गांधी , पीवीएन से पूर्व पीएम पीवी नरसिंहा राव, और पीसी से पी चिदंबरम के नाम का अंदाजा लगाया जा रहा है। आपको याद दिला दें कि अभी कुछ ही दिनों पहले भाजपा सासंद ने कहा था कि भाजपा साल 2019 का लोकसभा चुनाव हिंदुत्व और राम मंदिर के मुद्दे पर ही लड़ेगी। सुब्रमण्यम स्वामी कहा था कि उन्हें भरोसा है कि इसी साल उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का काम शुरू हो जाएगा।

उन्होंने यह भी कहा था कि भले ही शिवेसना इस वक्त हमारे साथ नहीं है लेकिन अगले लोकसभा चुनाव में शिवसेना निश्चित तौर से बीजेपी के साथ आ जाएगी। आपको बता दें कि तीन लोकसभा सीटों पर अब तक हुए उपचुनाव में बीजेपी ने सिर्फ एक सीट ही जीत हासिल की है। उत्तर प्रदेश की कैराना, और महाराष्ट्र की भंडारा-गोदिया सीट पर पार्टी को हार का मुंह देखना पड़ा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App