ताज़ा खबर
 

वित्त मंत्री के कदम से संतुष्ट नहीं बीजेपी सांसद, बोले- 10 दिन बाद आ रही मेरी किताब, पढ़ लेना अर्थव्यवस्था के सारे उपाय

स्वामी ने कहा कि जब तक इनकम टैक्स खत्म नहीं किया जाता है, तब तक आर्थिक विकास को गति नहीं मिल सकती।

भाजपा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी। (फाइल फोटो)

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता एवं राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने आर्थिक वृद्धि को गति देने के लिये आयकर समाप्त करने, सावधि जमा पर ब्याज दर बढ़ाने तथा कर्ज पर ब्याज दर कम करने की वकालत की है। उन्होंने मौजूदा सरकार द्वारा उठाए गए कदमों पर खास संतोष नहीं जाहिर किया। चंडीगढ़ में आयोजित एक सेमिनार में स्वामी ने कहा कि जब तक इनकम टैक्स खत्म नहीं किया जाता है, तब तक आर्थिक विकास को गति नहीं मिल सकती।

जब पत्रकारों ने उनसे पूछा कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा उठाए गए कदमों से अर्थव्यवस्था कितनी मजबूत होगी तो उन्होंने स्पष्ट कहा, ‘‘जो मुख्य मुद्दा है वह आयकर को समाप्त करना है। सावधि जमा पर ब्याज दर बढ़ाकर नौ प्रतिशत तथा कर्ज पर ब्याज दर घटाकर नौ प्रतिशत किया जाना चाहिये। यदि ये तीन कदम उठाये जायें, चीजें सुधरने लगेंगी।’’ लगे हाथ उन्होंने पत्रकारों को कहा कि अगले महीने पांच सितंबर को उनकी नयी पुस्तक आने वाली है जिसमें आर्थिक वृद्धि को गति देने के उपायों के बारे में सुझाव दिया जाएगा।

स्वामी ने कहा, ‘‘अर्थव्यवस्था के लिये बहुत कुछ किये जाने की जरूरत है। पांच सितंबर को मेरी नयी पुस्तक आ रही है, उसमें मैंने उन चीजों का जिक्र किया है जिन्हें किये जाने की जरूरत है।’’

बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार (23 अगस्त) को विभाग के जूनियर मंत्री और तमाम बड़े अधिकारियों के साथ प्रेस कॉन्फ्रेन्स किया था और बताया था कि अमेरिका और चीन के बीच व्यापार युद्ध की वजह से पूरी दुनिया में मंदी है लेकिन भारतीय अर्थव्यवस्था मजबूत है। लगे हाथ सीतारमण ने कई सरचार्च खत्म करने का भी ऐलान किया था। उन्होंने बैंकों को 70,000 करोड़ रुपये देने और ऑटो सेक्टर में मंदी से उबरने के भी कुछ उपायों की घोषणा की थी।

 

(भाषा इनपुट्स के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 बिहार में सीट शेयरिंग हो या राफेल की ढाल, इन बड़े फैसलों के लिए याद किए जाते रहेंगे अरुण जेटली
2 गुजरात: मुस्लिम कारोबारी के घर में भारत माता का मंदिर, बेटे से बोले बुजुर्ग- कुछ भी हो जाय छेड़ना मत
3 जब संसद में बहस की तैयारी करने के लिए अरुण जेटली ने खर्च डाले 35 हजार रुपये!
ये पढ़ा क्या?
X