ताज़ा खबर
 

बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने की पूर्व कांग्रेसी पीएम पीवी नरसिम्हा राव को भारत रत्न देने की मांग

उन्होंने कहा कि 'राष्ट्र को मांग करनी चाहिए कि पीवी नरसिम्हा राव को आने वाले गणतंत्र दिवस पर भारत रत्न दिया जाए।' स्वामी ने राव के कसीदे पढ़ते हुए कहा कि, 'नरसिम्हा राव ने न केवल आर्थिक सुधार किए, बल्कि उन्होंने संसद में कश्मीर पर एक प्रस्ताव पारित किया

Author नई दिल्ली | Updated: September 11, 2019 7:00 PM
भाजपा नेता सुब्रमण्यन स्वामी।

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व सांसद सुब्रमण्यम  स्वामी ने पूर्व कांग्रेसी पीएम पीवी नरसिम्हा राव को भारत रत्न देने की मांग की है। स्वामी ने राव की तारीफ करते हुए उन्हें अगले गणतंत्र दिवस पर भारत रत्न से नवाजे के लिए कहा है। अर्थव्यवस्था, कश्मीर और राम मंदिर जैसे मुद्दों को याद करते हुए स्वामी ने यह मांग की है। उन्होंने कहा कि ‘राष्ट्र को मांग करनी चाहिए कि पीवी नरसिम्हा राव को आने वाले गणतंत्र दिवस पर भारत रत्न दिया जाए।’

स्वामी ने राव के कसीदे पढ़ते हुए कहा कि, ‘नरसिम्हा राव ने न केवल आर्थिक सुधार किए, बल्कि उन्होंने संसद में कश्मीर पर एक प्रस्ताव पारित किया और सुप्रीम कोर्ट को बताया कि अगर विवादित भूमि पर पहले से मंदिर था, जिस पर बाद में बाबरी मस्जिद का निर्माण किया गया तो उनकी सरकार हिंदुओं को भूमि सौंप देगी।’

गौरतलब है कि पी वी नरसिम्हा राव 1991 में राजीव गांधी की मृत्यु के बाद हुए लोकसभा चुनाव जीतकर प्रधानमंत्री बने थे। उन्होंने  सफलतापूर्वक पांच साल का अपना कार्यकाल पूरा किया था। 23 दिसंबर, 2004 को दिल्ली में नरसिम्हा राव का निधन हुआ था।  बात भारत रत्न की करें तो यह भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान होता है। इस सम्मान की स्थापना 2 जनवरी 1954 में भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद द्वारा की गई थी।

बता दें कि पीएम मोदी चुनाव से पहले पीवी नरसिम्हा राव का नाम कांग्रेस के खिलाफ ही करते  रहे हैं।नरेंद्र मोदी ने 2014 के लोकसभा चुनाव से ही राव की विरासत को भुनाने की कोशिश करते रहे हैं। चुनाव की रैलियों के दौरान आंध्र प्रदेश-तेलंगाना की रैलियों में मोदी ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा था कि कांग्रेस ने तेलुगू मूल के इसे ‘महान नेता’ का अपमान किया था और पार्टी ने उन्हें उतना सम्मान नहीं दिया जिसके वह हकदार थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 AADHAAR CARD को अब फेसबुक, टि्वटर से जोड़ने की तैयारी! सरकार ने मांगी UIDAI की राय
2 NEW TRAFFIC RULES: महज 100 रुपए खर्च कर माफ हो सकता है जुर्माना, जान‍िए शर्तें
3 किताब में बीजेपी सांसद का दावा: टीम मोदी में अयोग्यों, चापलूसों की भरमार, मंत्री और साथी भी नहीं देते सही सलाह