ताज़ा खबर
 

कश्मीर पर मलाला का ट्वीट, बीजेपी सांसद का पलटवार- पाकिस्तानी अल्पसंख्यकों के लिए आवाज उठाएं

कर्नाटक से बीजेपी सांसद शोभा ने कहा कि मलाला यूसुफजई को जम्मू-कश्मीर के बजाय पाकिस्तान में अल्पसंख्यक बच्चियों पर होने वाले जुल्म और जबरन धर्म परिवर्तन के खिलाफ बोलना चाहिए।

मलाला यूसुफजई को बीजेपी सांसद ने दी नसीहत। (फाइल फोटो सोर्स: द इंडियन एक्सप्रेस)

नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित और पाकिस्तान शिक्षा अधिकार कार्यकर्ता मलाला यूसुफजई के जम्मू-कश्मीर पर किए गए ताज़ा ट्वीट्स पर भारतीय जनता पार्टी की तरफ से तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिली है। यूसुफजई के ट्वीट पर पलटवार करते हुए बीजेपी सांसद ने नसीहत देते हुए कहा कि वो कश्मीर के बारे में सोचने की बजाय पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के साथ होने वाले जुल्मों-सितम और जबरन धर्मपरिवर्तन बोलें।

कर्नाटक से बीजेपी सांसद शोभा ने कहा, “नोबेल पुरस्कार विजेता से मेरा विनम्र निवेदन है कि वह अपना कुछ वक्त पाकिस्तान के अल्पसंख्यकों के लिए भी दें। अपने खुद के देश में अल्पसंख्यक बच्चियों के उत्पीड़न और जबरन धर्ममांतरण के खिलाफ भी आवाज बुलंद करें। कश्मीर में डेवलपमेंट के एजेंडे को विस्तार दिया गया है। यहां किसी को दबाया नहीं जा रहा है।

इससे पहले मलाला यूसुफजई घाटी में तनाव भरे हालात के बीच संयुक्त राष्ट्र से कश्मीर में शांति लाने और बच्चों को दोबारा स्कूल भेजने में मदद करने की दिशा में काम करने की अपील की। यूसुफजई ने कहा, ‘‘ मैं यूएनजीए के नेताओं और अन्य से कश्मीर में शांति लाने की दिशा में काम करने, कश्मीरियों की आवाज सुनने और बच्चे स्कूलों की ओर लौट सकें, इसमें मदद करने का अनुरोध कर रही हूं।’’ 22 साल की मलाला ने कहा कि वह उन रिपोर्टों से चिंतित हैं जिनमें कहा गया है कि 40 दिन से ज्यादा वक्त से बच्चे स्कूल नहीं जा सके हैं,लड़कियां घर से निकलने में डर रही हैं।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘ मैं कश्मीर में रहने वाली लड़कियों से अभी सीधे बातचीत करना चाहती हूं। कश्मीर में संचार माध्यमों पर पाबंदियों की वजह से लोगों की कहानियां जानने के लिए बहुत से लोगों को काफी काम करना पड़ा। कश्मीरी दुनिया से कटे हुए हैं और वह अपनी बात नहीं रख पा रहे हैं। कश्मीर को बोलने दो।”

Next Stories
1 सिर्फ यूपी नहीं, इन पांच राज्यों में भी सरकारी खजाने से भरा जाता है मुख्यमंत्री और मंत्रियों का इनकम टैक्स
2 पाकिस्तान ने 2019 में 2,050 बार किया संघर्षविराम उल्लंघन, 21 भारतीयों की मौत
3 आरएसएस नहीं होता तो हिंदुस्तान भी नहीं होता- बोले राजस्थान बीजेपी अध्यक्ष सतीश पुनिया
ये पढ़ा क्या?
X