ताज़ा खबर
 

भोपाल में भाव नहीं मिलने से नाराज हैं सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर, घर पर की गुप्त बैठक, मोबाइल बाहर रखवाए

पार्टी में हो रही अपेक्षा की वजह से उन्होंने कई सीनियर नेताओं को भी अपने साथ जोड़ना शुरू कर दिया है। इसके अलावा वह उनसे अपने संसदीय क्षेत्र का फीडबैक भी ले रही हैं। कहा यह भी जा रहा है कि सांसद ने इसकी शिकायत पार्टी के आला नेताओं से भी की है साथ ही उन्होंने इस मामले की जानकारी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अधिकारियों को भी दे दी है।

sadhvi pragya , BJP , Bhopal , MPसाध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर (फोटो क्रेडिट – एक्सप्रेस आर्काइव )

भोपाल की सांसद और बीजेपी नेता साध्वी प्रज्ञा अपनी ही पार्टी के नेताओं से खफा चल रहीं हैं। जिसकी वजह से उन्होंने भारतीय जनता पार्टी में हाशिये पर धकेल दिए गए नेताओं के साथ बैठक की। माना यह जा रहा है कि साध्वी अपने क्षेत्र में विधायकों और पूर्व मेयर के हस्तक्षेप से खफा है। साध्वी प्रज्ञा ने भोपाल के करीब 30 लोगों के साथ अपने निवास में बैठक की जिसमें लोगों के मोबाइल तक बाहर रखवा दिए थे।

पार्टी में हो रही अपेक्षा की वजह से उन्होंने कई सीनियर नेताओं को भी अपने साथ जोड़ना शुरू कर दिया है। इसके अलावा वह उनसे अपने संसदीय क्षेत्र का फीडबैक भी ले रही हैं। कहा यह भी जा रहा है कि सांसद ने इसकी शिकायत पार्टी के आला नेताओं से भी की है साथ ही उन्होंने इस मामले की जानकारी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अधिकारियों को भी दे दी है।

सांसद के साथ हुई मीटिंग में शिवाजी ठाकरे, विष्णु राठौर, डॉ दीपक मेहता समेत करीब तीस नेता शामिल रहे। मीटिंग में यह भी चर्चा हुई कि पिछले दिनों हुए किसान सम्मेलन में साध्वी प्रज्ञा को मंच पर पीछे बैठने की जगह मिली थी। इसके अलावा भोपाल में भाजपा के नए जिला कार्यालय में भी उनका सम्मान ठीक ढंग से नहीं हुआ। कहा जा रहा है कि सांसद साध्वी प्रज्ञा के पास ऐसे करीब 150 नेताओं की लिस्ट है जो पार्टी में अपने आप को सहज महसूस नहीं कर रहे हैं। जिनके साथ आने वाले दिनों में बैठक की जा सकती है।

जानकारी के अनुसार मीटिंग में सांसद ने कहा कि वे भोपाल संसदीय क्षेत्र में आने वाली सभी विधानसभाओं की सांसद है. इसलिए उन्हें कोई कमजोर ना समझे। साथ ही उन्होंने कहा कि पार्टी के तरफ से मिली गयी सभी जिम्मेदारियों का निर्वहन वह बखूबी करेंगी। इसके अलावा सांसद साध्वी प्रज्ञा ने लव जिहाद के पीड़ितों की मदद के लिए के एक कमेटी बनाने का भी निर्णय लिया है।

 

Next Stories
1 किसान आंदोलन: हरियाणा में पुलिस ने चलाए आंसू गैस के गोले, दिल्ली में आज बात करेगी सरकार
2 कृषि क़ानूनों का बीजेपी में विरोध? पार्टी का आग्रह ठुकरा कर एक नेता ने की किसान आंदोलन की तारीफ, दूसरे ने की क़ानून रद करने की मांग
3 संपादकीय: पाक का धर्म
ये पढ़ा क्या?
X