बाबर शिल्पकार साथ नहीं लाया था, सभी मुस्लिम मूर्तिकार हैं भगवान विश्वकर्मा के वंशज- BJP सांसद के बोल

भाजपा के राज्यसभा सदस्य रामचंद्र जांगड़ा ने कहा कि इराक, ईरान और यूएई में सिर्फ रेत के टीले है और वहां शिल्पकला हो ही नहीं सकती। इसलिए हमारे मुसलमान भाई भी भगवान विश्वकर्मा के वंशज हैं। 

BJP MP, RAMCHANDRA JANGDA
उत्तरप्रदेश के मुज़फ्फरनगर में एक कार्यक्रम में भाजपा सांसद रामचंद्र जांगड़ा ने कहा कि संसार में जो भी शिल्पकार्य करता है वो भगवान विश्वकर्मा के वंशज हैं। (फोटो – एएनआई)

उत्तरप्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने को हैं। विधानसभा चुनाव से पहले नेताओं के जनता के पास पहुंचने का दौर शुरू हो चुका है। इसी सिलसिले में उत्तरप्रदेश के मुज़फ्फरनगर पहुंचे भाजपा से राज्यसभा सासंद रामचंद्र जांगड़ा ने कहा कि मुस्लिम मूर्तिकार भी भगवान विश्वकर्मा के वंशज है, बाबर अपने साथ शिल्पकार लेकर नहीं आया था।

भाजपा के राज्यसभा सदस्य रामचंद्र जांगड़ा ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि संसार में जो भी शिल्पकार्य करता है वो भगवान विश्वकर्मा के वंशज हैं। उत्तरप्रदेश में केवल हिंदू ही नहीं बल्कि मुस्लिम शिल्पकार भी काफी संख्या में हैं। बाबर अपने साथ शिल्पकार लेकर नहीं आया था क्योंकि वहां शिल्पकार हो ही नहीं सकता। इराक, ईरान और यूएई में सिर्फ रेत के टीले है और वहां शिल्पकला नहीं हो सकती। इसलिए हमारे मुसलमान भाई भी भगवान विश्वकर्मा के वंशज हैं। 

आगे रामचंद्र जांगड़ा ने कहा कि कुछ कारण रहा होगा जिसके कारण उन्हें धर्म परिवर्तन करना पड़ा। उन्हें उन कारणों के बारे में भी पता है। कई चीजों को सार्वजनिक तौर पर नहीं कहा जा सकता है। जहां श्रम को सम्मान नहीं मिलता, मेहनत को सम्मान नहीं मिलता, आदमी प्रतिक्रिया स्वरूप उस घर को छोड़ देता है। ये सिर्फ मुस्लिम शिल्पकारों ने नहीं किया बल्कि बाबा साहब भीमराव आंबेडकर ने भी किया। उनको भी कहना पड़ा कि मैं हिंदू जरूर पैदा हुआ हूं लेकिन हिंदू के रूप में मरूंगा नहीं।

इसके अलावा भाजपा सांसद रामचंद्र जांगड़ा ने यह भी कहा कि राष्ट्रनिर्माण में विश्वकर्मा समाज की अहम भूमिका रही है। पीएम मोदी ने देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए श्रमिकों और श्रम को सर्वोपरि रखा है। उन्होंने विश्वकर्मा समाज के युवाओं से राजनीतिक ताकत जुटाने की भी अपील की। साथ ही उन्होंने कहा कि पूरे देश के विश्वकर्मा समाज के लोग 17 सितंबर को दिल्ली के रामलीला मैदान जरूर पहुंचे। पीएम मोदी देश के शिल्पकारों से सीधा संवाद करेंगे।