ताज़ा खबर
 

भाजपा सांसद ने प्रज्ञा ठाकुर ने संसद में दूसरी बार मांगी माफी, सर्वदलीय बैठक में हुआ था फैसला

साध्वी के बयान के बाद भाजपा डैमेज कंट्रोल में जुट गई थी। प्रज्ञा के बयान के एक दिन बाद ही उन्हें रक्षा मामलों की संसदीय समिति से हटा दिया गया। पार्टी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा था कि पार्टी प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ कार्रवाई कर सकती है।

दिल्लीलोकसभा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

नाथूराम गोडसे को दूसरी बार देशभक्त बताने के मामले में भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने संसद में अपने बयान पर शुक्रवार को दूसरी बार माफी मांगी। भाजपा सांसद के पहले मांगी गई माफी से विपक्ष संतुष्ट नहीं था। इसके बाद सर्वदलीय बैठक में दुबारा बिना लाग लपेट के साफ शब्दों में माफी मांगने का फैसला हुआ। भोजनावकाश के बाद जब लोकसभा की कार्यवाही दुबारा शुरू हुई तो प्रज्ञा ठाकुर ने फिर से माफी मांगी।

भाजपा सांसद ने कहा, ”मैंने 27-11-2019 को एसपीजी बिल की चर्चा के दौरान नाथूराम गोडसे को देशभक्त नहीं कहा। नाम ही नहीं लिया, फिर भी किसी को ठेस पहुंचती हो तो मैं खेद प्रकट करते हुए क्षमा चाहती हूं।’ इससे पहले उन्होंने कहा था कि
मेरे बयान से किसी को ठेस पहुंची है तो खेद जताती हूं… मैं क्षमा मांगती हूं। उन्होंने कहा कि मैं महात्मा गांधी का सम्मान करती हूं। मेरे बयान को गलत तरीके से पेश किया गया। उन्होंने राहुल गांधी पर उन्हें आतंकवादी कहने के लिए अप्रत्यक्ष रूप से निशाना भी साधा।

प्रज्ञा ठाकुर ने दोपहर 12.15 बजे लोकसभा में माफी मांगी। इससे पहले नड्डा के साथ मुलाकात के दौरान पार्टी के वरिष्ठ नेता भूपेंद्र यादव भी मौजूद थे। मालूम हो कि बुधवार को लोकसभा में एसपीपी संशोधन बिल पर बहस के दौरान प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने महात्मा गांधी के हत्यारे नाथू राम गोडसे को फिर देशभक्त बताया था।

हालांकि, बाद में उन्होंने अपने बयान पर सफाई भी दी थी। भाजपा सांसद ने कहा था कि वह क्रांतिकारी उधम सिंह के बारे में बात कह रही थीं। साध्वी के बयान के बाद भाजपा डैमेज कंट्रोल में जुट गई थी। प्रज्ञा के बयान के एक दिन बाद ही उन्हें रक्षा मामलों की संसदीय समिति से हटा दिया गया। पार्टी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा था कि पार्टी प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ कार्रवाई कर सकती है।

इससे पहले पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी कहा था कि हम इस बारे में बहुत स्पष्ट हैं कि हम उनके बयान की आलोचना करते हैं और ऐसी विचारधारा का समर्थन नहीं करते हैं। नड्डा के साथ संसदीय मामलों के मंत्री प्रह्लाद जोशी भी मौजूद थे। हालांकि सदन में साध्वी के बयान को रिकॉर्ड से निकाल दिया गया था। इससे पहले भाजपा सांसद के बयान पर कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्ष ने जोरदार विरोध जताया था।

वहीं इस मामले में बृहस्पतिवार को प्रज्ञा ठाकुर ने ट्वीट कर अपना पक्ष रखा था। उन्होंने लिखा, कभी-2 झूठ का बबण्डर इतना गहरा होता है कि दिन मे भी रात लगने लगती है किन्तु सूर्य अपना प्रकाश नहीं खोता पलभर के बवंडर मे लोग भ्रमित न हों सूर्य का प्रकाश स्थाई है। सत्य यही है कि कल मैने ऊधम सिंह जी का अपमान नहीं सहा बस।

बता दें कि साध्वी ने लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान भी नाथू राम गोड़से को देशभक्त बताया था। हालांकि, बाद में उन्होंने अपने बयान पर माफी मांग ली थी।

Next Stories
1 झारखंड विधानसभा चुनाव: अपनी सीट पर ही जूझ रहे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष, बोले- यहां चुनाव हो जाए तो बाकी जगह करूंगा प्रचार
2 उद्धव ठाकरे के शपथ लेने के तरीके पर उठ रहे सवाल, राज्यपाल ने जताई नाराजगी, बीजेपी बोली- संविधान का हुआ उल्लंघन
3 Jharkhand Election: मुझे बेवकूफ मत बनाइए, मैं भी बनिया हूं- चुनाव सभा में कम भीड़ देख मंच पर बीजेपी नेताओं से बोले अमित शाह
ये पढ़ा क्या?
X