ताज़ा खबर
 

पीएम मोदी को निशाने पर लेनेवाले बीजेपी सांसद की बढ़ाई गई सुरक्षा, दो राज्यों में 11-11 जवान रहेंगे साथ

वाई प्लेस कैटगरी सुरक्षा वीवीआईपी सुरक्षा होती है जिसमें 11 सुरक्षाकर्मी तैनात होते हैं। इनमें दो पीएसओ होते हैं। पिछले साल ही केंद्र सरकार ने कई वीवीआईपी लोगों की सुरक्षा में कटौती की थी। इनमें राजद अध्यक्ष लालू यादव भी शामिल थे।

इफ्तार पार्टी में बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा का स्वागत करते बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव, साथ में हैं उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव (फोटो-पीटीआई 13 06 18)

पूर्व केंद्रीय मंत्री और पटना साहिब से बीजेपी के सांसद शत्रुघ्न सिन्हा की सुरक्षा बढ़ाकर वाई प्लस कैटगरी की कर दी गई है। खुफिया जानकारी के आधार पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने वरिष्ठ नेता की सुरक्षा बढ़ाने का फैसला किया है। मंत्रालय ने खतरों को देखते हुए बिहार और महाराष्ट्र के मुख्य सचिवों को सुरक्षा मुहैया करवाने का निर्देश दिया है। बता दें कि शत्रुघ्न सिन्हा दिल्ली के अलावा मुंबई और पटना में भी रहते हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देश के बाद बिहार पुलिस की खुफिया शाखा ने राज्य के सभी जिलों के डीएम-एसपी को पत्र लिखकर सिन्हा की सुरक्षा सुनिश्चित करने के निर्देश जारी किए हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा भेजे गए पत्र में कहा गया है कि खुफिया एजेंसी ने शत्रुघ्न सिन्हा पर खतरे की आशंका जताई है। हालांकि, खतरे का इनपुट को लेकर कोई विशेष जानकारी नहीं उपलब्ध कराई गई है।

बता दें कि शत्रुघ्न सिन्हा हाल के दिनों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करते रहे हैं। उन्होंने नोटबंदी से लेकर जीएसटी और केंद्र सरकार की तमाम पहल की जोरदार मुखालफत की है। उन्होंने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं खासकर लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, अरुण शौरी जैसे नेताओं को नजरअंदाज करने और हाशिए पर धकेलने की भी आलोचना की है और पार्टी को दो लोगों (पीएम मोदी और अमित शाह) के इशारे पर चलाने का आरोप लगाया था। इधर, हाल के दिनों में उनकी राजनीतिक नजदीकियां राजद से बढ़ी हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि वो अगला लोकसभा चुनाव राजद की सहयोगी कांग्रेस के टिकट पर लड़ सकते हैं।

वाई प्लेस कैटगरी सुरक्षा वीवीआईपी सुरक्षा होती है जिसमें 11 सुरक्षाकर्मी तैनात होते हैं। इनमें दो पीएसओ होते हैं। पिछले साल ही केंद्र सरकार ने कई वीवीआईपी लोगों की सुरक्षा में कटौती की थी। इनमें राजद अध्यक्ष लालू यादव भी शामिल थे। इसके अलावा पिछले साल नवंबर में केंद्र सरकार ने तृणमूल कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आने वाले मुकुल रॉय को भी वाई प्लस कैटगरी की सुरक्षा दी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App