संसद में जब शराब की बोतल हाथ में लेकर खड़े हो गए बीजेपी सांसद, केजरीवाल सरकार पर लगाया ये आरोप

प्रवेश वर्मा ने कहा, “कोविड-19 के दौरान जब 25,000 लोगों की मौत हुई थी, दिल्ली सरकार केंद्र शासित प्रदेश में शराब की खपत बढ़ाने के उद्देश्य से नई आबकारी नीति बनाने में व्यस्त थी।”

bjp mp parvesh verma
भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा (फोटो- एएनआई)

भाजपा सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा ने सोमवार को संसद में शराब का एक पैकेट दिखाते हुए अरविंद केजरीवाल की अगुवाई वाली दिल्ली सरकार पर देश की राजधानी में शराब की खपत को बढ़ावा देने का आरोप लगाया।

प्रवेश वर्मा ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया, “कोविड-19 के दौरान जब 25,000 लोगों की मौत हुई थी, दिल्ली सरकार केंद्र शासित प्रदेश में शराब की खपत बढ़ाने के उद्देश्य से एक नई आबकारी नीति बनाने में व्यस्त थी।”

भाजपा सांसद ने दिल्ली सरकार पर आरोप लगाया, “आज 824 नई शराब की दुकानें खुल गई हैं। लोग रिहायशी इलाकों, कॉलोनियों, गांवों में शराब की दुकानें खोल रहे हैं। सुबह 3 बजे तक शराब की दुकान खुली रहेगी, बार में 3 बजे तक शराब पीने पर महिलाओं को छूट दी जाएगी। शराब पीने की उम्र सीमा 25 से घटाकर 21 कर दी गई है।”

भाजपा सांसद ने आरोप लगाया इसके पीछे उद्देश्य यह है कि सीएम केजरीवाल अधिक से अधिक राजस्व अर्जित करना चाहते हैं ताकि वह अपने प्रचार का विस्तार दें सकें। प्रवेश वर्मा ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाया और कहा कि वह 2022 के विधानसभा चुनावों के चुनाव प्रचार के लिए पंजाब गए और कहा कि वह शराब की संस्कृति को खत्म कर देंगे, इसके विपरीत, उन्होंने देश की राजधानी दिल्ली में शराब की खपत बढ़ा रहे हैं।

नगर निगम रिहायशी इलाकों में खुलने वाली शराब की दुकानों को लेकर सख्त

दिल्ली सरकार की नई आबकारी नीति के तहत 1 अक्टूबर से राजधानी में निजी शराब की दुकानें बंद कर दी गईं थी, लेकिन अब दुकानें खुल गई हैं। नई शराब की आबकारी नीति के खिलाफ भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच जंग तेज हो गई है। वहीं, रिहायशी इलाकों में शराब के ठेकों के खिलाफ तीनों निगमों ने कार्रवाई शुरू कर दी है। इन इलाकों में जिन इमारतों में शराब के ठेके खुल रहे हैं या खुले हैं, नगर निगम उन इमारतों में भवन निर्माण के नियमों के पालन को लेकर नोटिस जारी कर रहा है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट