छठ को लेकर घमासानः चोटिल हुए बीजेपी सांसद मनोज तिवारी, सीएम हाउस के बाहर पानी की बौछारों से कान में चोट

भाजपा दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के उस आदेश का विरोध कर रही है जिसमें कोविड-19 महामारी के मद्देनजर सार्वजनिक स्थानों और नदी तटों पर छठ समारोह पर रोक लगाई गई है।

Manoj Tiwari
बीजेपी नेता राहुल त्रिवेदी ने कहा कि तिवारी को वाटर कैनन बल के कारण विरोध प्रदर्शन के दौरान चोटें आईं और उन्हें सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया। (Express photo)

बीजेपी सांसद मनोज तिवारी को मंगलवार को हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया है। वह छठ समारोह पर प्रतिबंध को लेकर दिल्ली में सीएम केजरीवाल के घर के पास एक विरोध प्रदर्शन के दौरान घायल हो गए थे।

बीजेपी नेता राहुल त्रिवेदी ने कहा कि तिवारी को वाटर कैनन बल के कारण विरोध प्रदर्शन के दौरान चोटें आईं और उन्हें सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया। बताया जा रहा है कि बीजेपी सांसद के कान में चोट आई है।

बता दें कि भाजपा दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के उस आदेश का विरोध कर रही है जिसमें कोविड-19 महामारी के मद्देनजर सार्वजनिक स्थानों और नदी तटों पर छठ समारोह पर रोक लगाई गई है। डीडीएमए ने 30 सितंबर के एक आदेश में त्योहारों के दौरान मेलों और खाने के स्टालों पर भी प्रतिबंध लगा दिया था।

हालांकि, दिल्ली भाजपा ने पलटवार करते हुए कहा था कि वह छठ पूजा (घाटों पर) मनाएगी और पार्टी द्वारा शासित तीनों निगम (एमसीडी) इसकी व्यवस्था करेंगे।

दिल्ली भाजपा प्रमुख आदेश गुप्ता ने सोमवार को पार्टी के पंत मार्ग कार्यालय में तिवारी के साथ एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा था कि समारोह में कोविड -19 के प्रोटोकॉल का पालन करेंगे।

इस पर मनोज तिवारी ने कहा था कि दिल्ली सरकार ने स्वीमिंग पूल खोलने की इजाजत दी है लेकिन छठ पूजा पर रोक लगा दी है। छठ व्रत रखने वाले लोग त्योहार के दौरान केवल घुटने तक पानी भर में रहते हैं। वहीं कोविड से जुड़े दिशानिर्देश भी कहते हैं कि यह बीमारी मुंह और नाक से फैलती है, घुटने से नहीं।

बता दें कि मनोज तिवारी एक भोजपुरी अभिनेता और सिंगर हैं और उत्तर भारत में काफी लोकप्रिय हैं। वह नॉर्थ ईस्ट दिल्ली से सांसद भी हैं।

बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी से पढ़े मनोज तिवारी अब राजनीति में ज्यादा सक्रिय हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव में मनोज तिवारी दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को चुनाव हराकर संसद पहुंचे थे।

वह दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। उन्हें दिल्ली बीजेपी का बड़ा पूर्वांचली चेहरा माना जाता है। बीजेपी से पहले मनोज तिवारी समाजवादी पार्टी में भी रह चुके हैं।

वह साल 2020 में उस वक्त काफी चर्चा में रहे थे, जब 50 की उम्र में 27 अप्रैल को उन्होंने दूसरी शादी रचाई थी। उनकी दूसरी पत्नी का नाम सुरभि तिवारी है और वह भोजपुरी सिंगर हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट