PMO पर बरसे बीजेपी सांसद, कहा- एक अधिकारी के इशारे पर IT सेल बना रही निशाना, पीएम को भेजे थे वल्गर ट्वीट्स, नहीं रुका सिलसिला

स्वामी का कहना है कि पीएमओ के अधिकारी हीरेन जोशी के इशारे पर बीजेपी की आईटी सेल उन्हें निशाना बना रही है। फेक आईडी बनाकर उन्हें वल्गर ट्वीट्स भेजे जा रहे हैं। उन्होंने सारे ट्वीट्स एकत्र करके पीएम मोदी को भेज दिए थे।

Subramanian Swamy, BJP MP, PM MODI, BJP IT CELL, MODI GOVERNMENTभाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी (फोटो सोर्सः INDIAN EXPRESS)

दूसरों के लिए मुश्किलें खड़ी करने वाले बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी खुद परेशान हैं। दरअसल, उन्हें लगता है कि बीजेपी की आईटी सेल फेक आईडी के जरिए उन्हें निशाने पर ले रही है। साल भर से चल रहे सिलसिले को लेकर उन्होंने पीएम मोदी को भी अवगत कराया था, लेकिन उनका कहना है कि ट्वीट्स के जरिए उन पर अभद्र टिप्पणी करने का सिलसिला नहीं रुक रहा है।

स्वामी का कहना है कि पीएमओ के अधिकारी हीरेन जोशी के इशारे पर बीजेपी की आईटी सेल उन्हें निशाना बना रही है। फेक आईडी बनाकर उन्हें वल्गर ट्वीट्स भेजे जा रहे हैं। उन्होंने सारे ट्वीट्स एकत्र करके पीएम मोदी को भेज दिए थे। बकौल स्वामी, सरकार की आलोचना करने के लिए उन्हें निशाना बनाया जा रहा है। सारे ऑपरेशन की देखरेख पीएमओ खुद कर रहा है। यही वजह है कि पीएम मोदी से शिकायत के बाद भी कुछ नहीं बदल सका।

गौरतलब है कि स्वामी अक्सर सरकार पर हमलावर होते रहे हैं। कई बार वो पीएम मोदी को भी निशाना बनाने से नहीं चूकते। चीन को लेकर उन्होंने सीधा मोदी पर भी हमला किया था। इससे पहले पेट्रोल की कीमतों पर भी उन्होंने सरकार को कटघरे में खड़ा किया है। सरकार उनके इस तरह के तेवरों से परेशान भी हो रही है और इसकी काट के लिए नए रास्ते तलाश कर रही है।

हाल ही में स्वामी ने पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को अपने तेवर दिखाए थे। उन्होंने उत्तराखंड सरकार के एक ताजा फैसले को लेकर कहा कि मुद्दों से भटकी पार्टी तो खुले तौर पर आलोचना करूंगा। उन्होंने अमित शाह पर तंज करते हुए यह भी कहा कि गडकरी व राजनाथ सिंह के अध्यक्षीय कार्यकाल में पार्टी फोरम पर बात होती थी, लेकिन अमित शाह के अध्यक्ष बनने के बाद बाद चीजें बदली हैं। 

दरअसल स्वामी ने यह बात उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के फैसले का स्वागत करते हुए कही। रावत ने अपने पूर्ववर्ती सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के एक बड़े फैसले को पलटने की घोषणा की है।सीएम रावत ने कहा था कि राज्य के केदारनाथ, बदरीनाथ समेत 51 प्रमुख मंदिरों को सरकारी नियंत्रण से मुक्त करेंगे। स्वामी ने उनके इस निर्णय का समर्थन करते हुए कहा कि यही कारण है कि भाजपा का भविष्य बाकी दलों से बेहतर है। 

Next Stories
1 पंजाब में कांग्रेस विधायक ने कोरोना प्रोटोकॉल की उड़ाई धज्जियां, बिना मास्क शादी में किया भीड़ के साथ भंगड़ा
2 ऑक्सीजन की कमी पर बीजेपी और AAP ने एक दूसरे पर फोड़ा ठीकरा, एंकर का तंज- टोपी पहनाने वाला काम छोड़ दीजिए
3 वाकई में ऐसा ही मानते हैं BJP के कुछ नेता? COVID-19 से न होने वाला सियासी नुकसान
यह पढ़ा क्या?
X