दिवाली पर पटाखों को लेकर आमिर खान के विज्ञापन पर मचा बवाल, भाजपा सांसद बोले- हिंदू हुए आहत

भाजपा सांसद अनंत हेगड़े ने सिएट लिमिटेड के सीईओ अनंत वर्धन गोयनका को लिखे पत्र में कहा कि आप आम जनता की समस्याओं के प्रति बहुत उत्सुक और संवेदनशील हैं। साथ ही आप भी हिंदू समुदाय से हैं इसलिए मुझे यकीन है कि आप सदियों से हिंदुओं के साथ किए गए भेदभाव को महसूस करेंगे।

भाजपा सांसद अनंत हेगड़े ने सीएट कंपनी के लिए आमिर खान के द्वारा दीवाली को लेकर बनाए गए एक विज्ञापन पर आपत्ति जताई है और कहा है कि इससे हिंदुओं में रोष है। (एक्सप्रेस फोटो)

अपने विवादित बयानों की वजह से अक्सर चर्चा में रहने वाले कर्नाटक से भाजपा सांसद अनंत कुमार हेगड़े ने बॉलीवुड सुपरस्टार आमिर खान के एक विज्ञापन पर आपत्ति जताई है टायर कंपनी सिएट लिमिटेड के लिए बनाए गए विज्ञापन में आमिर खान द्वारा दिवाली पर गलियों में पटाखे ना फोड़ने की सलाह दिए जाने पर भाजपा नेता ने आपत्ति जताई है। साथ ही उन्होंने कंपनी के सीईओ को लिखे पत्र में कहा है कि इस विज्ञापन से हिंदू गुस्से में हैं और आहत भी हुए हैं।

आमिर खान के विज्ञापन पर संज्ञान लेने का अनुरोध करते हुए सिएट लिमिटेड के सीईओ अनंत वर्धन गोयनका को लिखे पत्र में उन्होंने कहा कि आपकी कंपनी का हालिया विज्ञापन जिसमें आमिर खान लोगों को सड़कों पर पटाखे नहीं जलाने की सलाह दे रहे हैं, एक बहुत अच्छा संदेश दे रहा है। सार्वजनिक मुद्दों पर आपकी चिंताएं काफी स्वागत योग्य हैं।  इसलिए मैं आपसे सड़कों पर लोगों के सामने आने वाली एक और समस्या का समाधान करने का अनुरोध करता हूं।

आगे उन्होंने लिखा कि शुक्रवार और अन्य महत्वपूर्ण त्योहारों के दिन नमाज के नाम पर मुस्लिम समाज द्वारा सड़कें जाम की जाती हैं। यह कई शहरों में देखने को मिलता है जहां मुसलमान व्यस्त सड़कों को जाम करते हैं और सड़क पर नमाज अदा करते हैं। उस समय एंबुलेंस और दमकल जैसे जरूरी वाहन भी यातायात में फंस जाते हैं, जिससे काफी गंभीर नुकसान होता है।

इसके अलावा अनंत हेगड़े ने अपने पत्र में लिखा कि हर दिन जब अज़ान दी जाती है तो हमारे देश में मस्जिदों के ऊपर लगे माइक से तेज़ आवाज़ निकलती है। वह आवाज तय सीमा से भी अधिक होती है. शुक्रवार को इसे कुछ और समय के लिए बढ़ाया जाता है। इस आवाज की वजह से विभिन्न बीमारियों से पीड़ित लोगों और आराम करने वाले लोगों, विभिन्न संस्थानों में काम करने वाले लोगों और कक्षाओं में पढ़ाने वाले शिक्षकों के लिए बड़ी असुविधा पैदा होती है। इससे कई लोगों को नुकसान होता है और यहां कम ही पीड़ितों का उल्लेख किया गया है।

आगे उन्होंने लिखा कि चूंकि आप आम जनता की समस्याओं के प्रति बहुत उत्सुक और संवेदनशील हैं। साथ ही आप भी हिंदू समुदाय से हैं इसलिए मुझे यकीन है कि आप सदियों से हिंदुओं के साथ किए गए भेदभाव को महसूस करेंगे। आजकल कुछ हिंदू विरोधी अभिनेताओं द्वारा अक्सर हिंदू भावनाओं को आहत किया जाता है जबकि वे कभी भी अपने समुदाय के गलत कामों को उजागर करने की कोशिश नहीं करते हैं।

भाजपा सांसद अनंत हेगेड़े ने अपने पत्र में यह भी लिखा कि इसलिए मैं आपसे इस विशेष घटना का संज्ञान लेने का अनुरोध करता हूं जिसमें आपकी कंपनी के विज्ञापन ने हिंदुओं में अशांति पैदा की है। मुझे उम्मीद है कि भविष्य में आपकी कंपनी हिंदू भावनाओं का सम्मान करेगी और इसे कभी भी प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से चोट नहीं पहुंचाएगी।

गौरतलब है कि पिछले दिनों कपड़ों के ब्रांड फैबइंडिया को भी कुछ वरिष्ठ भाजपा नेताओं के विरोध के बाद अपने एक विज्ञापन ‘जश्न-ए-रिवाज़’ को हटाना पड़ा था। भाजपा नेताओं ने दीवाली से जुड़े विज्ञापन का नाम उर्दू में रखे जाने पर आपत्ति जताई थी। जिसके बाद विज्ञापन से जुड़ा सोशल मीडिया पोस्ट भी हटा लिया गया था। फैबइंडिया ने अपने विज्ञापन को हटाने के बाद कहा था कि कि जश्न-ए-रिवाज़ दिवाली का क्लोदिंग कलेक्शन नहीं था। ‘झिलमिल दिवाली’ कलेक्शन अभी लॉन्च होने वाला है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
जम्मू-कश्मीर: घट रहा बाढ़ का पानी, लाखों लोग को अब भी मदद की दरकार
अपडेट