ताज़ा खबर
 

बीजेपी MLA ने सीएम के खिलाफ लगवाया पोस्‍टर, लिखा- ‘अरविंद केजरीवाल ने एक दिन में पी डाली 80000 की दारू’

कर्नाटक में 20 घंटे के ​भीतर करीब 2 लाख रुपये की मेहमाननवाजी करवाना दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के लिए मुसीबत बन गया है। भाजपा नेताओं ने गुरुवार को #Darubaazkejri को सोशल मीडिया पर ट्रेंड करवाया था।

दिल्ली की सड़कों पर लगाए गए सीएम अरविंद केजरीवाल के पोस्टर। फोटो- Twitter/@mssirsa

कर्नाटक में 20 घंटे के ​भीतर करीब 2 लाख रुपये की मेहमाननवाजी करवाना दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के लिए मुसीबत बन गया है। विपक्षी भाजपा इस मुद्दे को भुनाने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहती है। भाजपा नेताओं ने गुरुवार को #Darubaazkejri को सोशल मीडिया पर ट्रेंड करवाया था। लेकिन अब इस बारे में पोस्टर पूरी दिल्ली में लगाए जा रहे हैं।

दिल्ली में भाजपा—अकाली गठबंधन से विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने अरविंद केजरीवाल को निशाना बनाने वाले होर्डिंग्स पूरी दिल्ली में लगवाई हैं। इन होर्डिंग्स में केजरीवाल को मुंह में शराब की बोतल लगी हुई दिख रही है। होर्डिंग्स में लिखा गया है कि केजरीवाल ने बना डाला वर्ल्ड रिकार्ड। एक ही दिन में पी डाली 80 हजार की दारू। ये भी लिखा गया है कि दिल्ली में गरीब भूख से मर रहे हैं और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जनता के पैसे का दुरुपयोग कर रहे हैं।

बता दें कि कर्नाटक में बनी गठबंधन की सरकार में मुख्यमंत्री बने एचडी कुमारस्वामी के शपथग्रहण समारोह में शिरकत करने पहुंचे अन्य राज्यों के नेताओं में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दूसरे महंगे मेहमान साबित हुए थे। कुमारस्वामी के सात मिनट के शपथ ग्रहण समारोह पर कर्नाटक सरकार का कुल 42 लाख रुपये खर्चा आया। इसमें आंध्र के सीएम चंद्रबाबू नायडू पर 8.72 लाख रुपये तो दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की मेहमानवाजी पर कुल 1.85 लाख रुपये हुए खर्चा आया था। ये जानकारी आरटीआई के जरिए सामने आई थी।

बेंगलुरू में एक होटल में दो घंटे के भीतर खाने-पीने में 76 हजार रुपये खर्च करने वाले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने भी चुटकी ली है। उन्होंने ट्वीट किया है कि अब समझ में आया कि दिल्ली में सीसीटीवी क्यों नहीं लग सके हैं। सुना है दो घंटे में ही 80 हजार की दारू खींच दी।

बता दें कि अरविंद केजरीवाल 23 मई को एचडी कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह के लिए पहुंचे थे। उसी दिन सुबह 9.49 बजे पांच सितारा होटल ताज वेस्ट एंड में चेक इन किया और अगले दिन यानि 24 मई को सुबह 5.34 बजे होटल से निकल गए। केजरीवाल तकरीबन 20 घंटे तक ठहरे थे। राज्य सरकार ने वहां इनके रहने का इंतजाम किया था। उनका बिल 1.85 लाख रुपये आया। 23 मई की रात केजरीवाल और उनके साथ जो कमरे में थे उन्होंने दो घंटे के भीतर जो कुछ खाया-पीया सिर्फ उसका बिल 76 हजार 25 रुपया आया।

शपथग्रहण समारोह में भाजपा विरोधी 14 राजनीतिक दलों के 42 नेता हिस्सा लेने पहुंचे थे। कर्नाटक से प्रकाशित एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट जिसमें आरटीआई से प्राप्त उक्त जानकारी का हवाला दिया गया है। बसपा सुप्रीमो मायावती के ठहरने व खाने-पीने पर 1.41 लाख रुपये, सपा नेता अखिलेश यादव पर 1.2 लाख रुपये, कांग्रेस नेता अशोक गहलोत पर 1.2 लाख रुपये, सीपीआई एम नेता सीताराम येचुरी पर 64 हजार रुपये, सीपीआई एम नेता पिनाराई विजयन पर 1.2 लाख रुपये, एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी पर 38 हजार रुपये, झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता हेमंत सोरेन पर 38 हजार रुपये, जेवीएमपी नेता बाबूलाल मरांडी पर 45,952 रुपये राज्य सरकार का खर्च हुआ। सभी मेहमानों में चंद्रबाबू नायडू और अरविंद केजरीवाल दोनों मुख्यमंत्री राज्य सरकार के लिए महंगे साबित हुए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App