BJP MLA Gyan Dev Ahuja says Nehru was not a Pandit - बीजेपी विधायक ने कहा- नेहरू पंडित नहीं थे, जो गाय-सुअर का मांस खाए, पंडित नहीं हो सकता - Jansatta
ताज़ा खबर
 

बीजेपी विधायक ने कहा- नेहरू पंडित नहीं थे, जो गाय-सुअर का मांस खाए, पंडित नहीं हो सकता

भाजपा विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने कहा कि जवाहर लाल नेहरू पंडित नहीं थे। जो गाय और सुअर का मांस खाए, वह पंडित नहीं हो सकता।

भाजपा विधायक ने पंडित नेहरू को लेकर विवादित बयान दिया (Photo source- Video grab/ANI)

भाजपा के कई ऐसे विधायक हैं जो अक्सर अपने विवादित बयानों से चर्चा में बने रहते हैं। ऐसे ही एक हैं राजस्थान के रामगढ़ से विधायक ज्ञानदेव आहूजा। कभी गौरक्षा को लेकर विवादित बयान देते हैं तो कभी जेएनयू को लेकर। इस बार उन्होंने देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू पर अभद्र टिप्पणी की है। उन्होंने कहा कि नेहरू पंडित नहीं थे। जो गाय और सुअर का मांस खाए, वह पंडित नहीं हो सकता। एएनआई के अनुसार, भाजपा विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने कहा कि, “पंडित जवाहर लाल नेहरू पंडित नहीं थे। जो गाय का मांस खा जाए, जो सुअर का मांस खा जाए, सुअर मुसलमानों के लिए नापाक है, गाय हमारे लिए पवित्र है। जो बाकी जीव-जानवरों को खा जाए। वो कभी पंडित नहीं थे, लेकिन उनके आगे ब्राह्मण को जोड़ा गया।

इससे पहले राजस्थान के अलवर जिले में कथित गोरक्षकों द्वारा गाय की तस्करी के संदेह में जाकिर खान नाम के एक व्यक्ति की पिटाई पर आहूजा ने कहा था कि, “गो-तस्करी करोगे, गोकशी करोगे, तो यूं ही पीट-पीट मरोगे।” विधायक आहूजा उस समय चर्चा आए थे जब इन्होंने वाट्सअप मैसेज के आधार पर कहा था कि, “जेएनयू में प्रतिदिन 2000 देशी-विदेशी शराब की बोतलें मिलती है। 10000 से अधिक सिगरेट के टुकड़े मिलते हैं। 4000 से अधिक बीड़ी के टुकड़े मिलते हैं। 50 हजार से अधिक छोटे-बड़े हड्डियों के टुकड़े मिलते हैं। 3000 से अधिक प्रयोग किए गए कंडोम और गर्भपात के लिए प्रयोग हुए 500 से अधिक इंजेक्शन मिलते हैं। यही नहीं, इसके साथ ड्रग्स लेने वाले रंगीन कागज भी मिलते हैं। रात में 8 बजे के बाद जेएनयू में सिर्फ नशा और गलत काम होता है।”

 

उनके इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर उनका मजाक उड़ने लगा था। हालांकि, वे काफी चर्चा में भी आ गए थे। इसके बाद भी उन्होंने एक बार जेएनयू को लेकर कहा था कि दिल्ली में 50 प्रतिशत बलात्कार और छेड़छाड़ जैसे अपराध जेएनयू के छात्र करते हैं। बता दें कि इस साल राजस्थान में विधानसभा चुनाव होने हैं। चुनाव को लेकर अभी से ही आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति शुरू हो गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App