ताज़ा खबर
 

पश्चिम बंगाल में भाजपा को मुख्यमंत्री चेहरे की तलाश, जानें दौड़ में कौन से नाम हैं शामिल

बीजेपी के पास पूरे बंगाल में असर दिखाने वाले नेता की कमी देखी जा रही है। हालांकि पिछले कुछ दिनों में बंगाल की राजनीति में कई नाम सामने आए हैं जिन्हें लेकर बीजेपी में चर्चा होती रही है।

bjp , west bengal , dilip ghoshपश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष (पीटीआई)

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव को लेकर तैयारी जारी है।  पिछले विधानसभा चुनाव में महज तीन सीट जीतने वाली भारतीय जनता पार्टी हाल के दिनों में बंगाल में मजबूत बनकर उभरी है। लेकिन बीजेपी के सामने सबसे बड़ी समस्या मुख्यमंत्री के उम्मीदवार को लेकर है। ममता बनर्जी को टक्कर देने के लिए बीजेपी को एक मजबूत नेता की तलाश है।

बीजेपी के पास पूरे बंगाल में असर दिखाने वाले नेता की कमी देखी जा रही है। हालांकि पिछले कुछ दिनों में बंगाल की राजनीति में कई नाम सामने आए हैं जिन्हें लेकर बीजेपी में चर्चा होती रही है। कुछ नाम संघ से जुड़े हैं तो कुछ हाल ही में टीएमसी से बीजेपी में आए हैं। पूर्व क्रिकेट कप्तान सौरव गांगुली से लेकर राज्यसभा सांसद स्वपन दासगुप्ता और हाल ही में पार्टी में शामिल हुए सुवेन्दु अधिकारी के नाम की चर्चा होती रही है।

सौरव गांगुली: बंगाल में पिछले काफी समय से इस बात को लेकर चर्चा की जा रही थी कि यह विधानसभा चुनाव दादा बनाम दीदी के बीच होने वाला है। लेकिन चुनाव से ठीक पहले सौरव गांगुली की तबियत खराब रहने के बाद इस मुद्दे पर अब चर्चा कम हो गयी है। वैसे भी सौरव गांगुली बीसीसीआई के अध्यक्ष हैं।

दिलीप घोष : बंगाल बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष को लेकर भी चर्चा है,दिलीप घोष ने मजबूती के साथ बंगाल में पार्टी को खड़ा किया है। लेकिन कुछ ही दिन पहले युवा मोर्चा के सौमित्र खान द्वारा दिलीप घोष के नाम को सीएम के तौर पर उछालने पर फटकार लगी थी।

तथागत रॉय: मेघालय के राज्यपाल रह चुके तथागत रॉय ने भी गृह राज्य लौट कर सक्रिय राजनीति में लौटने की इच्छा व्यक्त की थी। हालांकि 75 वर्षीय तथागत रॉय की उम्र 75 शायद उनके लिए दिक्कत बन सकती है।

जिष्णु बसु: वरिष्ठ आरएसएस नेता जिष्णु बसु को लेकर भी चर्चा की जा रही है। जिष्णु बसु दक्षिण बंगाल क्षेत्र के प्रांत कार्यवाह रह चुके हैं। माना जाता है कि संघ के कार्यकर्ताओं पर बसु की अच्छी पकड़ रही है।

स्वपन दासगुप्ता: पत्रकार से राजनेता बने स्वपन दासगुप्ता राज्यसभा सांसद भी हैं। उनके नाम को लेकर भी कयास लगाए जा रहे हैं। साल 2016 में राष्ट्रपति द्वारा उन्हें राज्यसभा के लिए नामित किया गया था। बंगाल में ‘भद्रलोक’ माने जाने वाले दासगुप्ता को प्रधानमंत्री के करीबियों के तौर पर देखा जाता है।

शुभेंदु अधिकारी : हाल ही में टीएमसी छोड़कर बीजेपी में शामिल होने वाले शुभेंदु अधिकारी भी मुख्यमंत्री पद के प्रमुख उम्मीदवार के तौर पर उभर सकते हैं। माना जाता है कि शुभेंदु अधिकारी 60 विधानसभा क्षेत्रों पर पकड़ रखते हैं।

 

Next Stories
1 देश की संपत्ति बेचना ठीक नहीं, सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा, राहुल गांधी का मुहावरा वार
2 अरविंद केजरीवाल ने लगवाई कोरोना वैक्सीन, बोले- डरने की ज़रूरत नहीं, सब लोग लगवाएं
3 हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला,निजी क्षेत्र की 75% नौकरियां राज्य के युवाओं के लिए आरक्षित, CII ने जताई चिंता
ये पढ़ा क्या?
X