ताज़ा खबर
 

गुजरातः श्मशान में दिन-रात ड्यूटी दे रहे मुस्लिम वॉलंटियर्स, BJP नेताओं को आपत्ति

वडोदरा भाजपा के अध्यक्ष डॉ विजय शाह ने नगर निगम के अधिकारियों को आदेश देते हुए कहा कि मुसलमानों को श्मशान में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाए।

Author Translated By रुंजय कुमार अहमदाबाद | Updated: April 19, 2021 3:23 PM
vadodara, BJP, GUJRATवडोदरा भाजपा के अध्यक्ष डॉ विजय शाह ने कहा जिस व्यक्ति को लकड़ी और गोबर की आपूर्ति का ठेका दिया गया है, वह उसे श्मशान के बाहर ही पहुंचाए ना कि श्मशान के अंदर मौजूद रहे। (फोटो- पीटीआई)

देशभर में कोरोना संक्रमण के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। गुजरात में भी संक्रमण काफी तेजी से फ़ैल रहा है. गुजरात के कई शहरों में स्थिति इतनी बदतर हो चुकी है कि कोरोना संक्रमित लाश के अंतिम संस्कार के लिए 6-8 घंटे का इंतजार करना पड़ रहा है। हालांकि इसके बावजूद कई लोग हर चीज को धार्मिक रंग देने में जुट जाते हैं। वडोदरा में भाजपा नेताओं ने शहर के खासेवाड़ी श्मशान में मुस्लिम स्वयंसेवकों की मौजूदगी पर आपत्ति जताई है। 

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार बीते 16 अप्रैल को वडोदरा भाजपा के अध्यक्ष डॉ विजय शाह और कुछ भाजपा नेता अपनी ही पार्टी के नेता के अंतिम संस्कार में शामिल होने खासेवाड़ी श्मशान पहुंचे थे। इस दौरान भाजपा नेताओं ने श्मशान में एक मुस्लिम शख्स की मौजूदगी पर आपत्ति जताई। उक्त मुस्लिम शख्स वहां गोबर और लकड़ी के सहारे चिता तैयार करने में जुटा हुआ था। वडोदरा भाजपा के अध्यक्ष डॉ विजय शाह ने नगर निगम के अधिकारियों को आदेश देते हुए कहा कि मुसलमानों को श्मशान में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाए।

इस पूरे मसले पर वडोदरा भाजपा के अध्यक्ष डॉ विजय शाह ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि हमें पता चला कि वह श्मशान में लकड़ी और गोबर की आपूर्ति करने वाला एक ठेकेदार है, लेकिन उसने श्मशान में काम करने के लिए कई मुस्लिम युवाओं को नियुक्त किया है, जो गलत है। साथ ही शाह ने कहा कि अच्छे काम के लिए स्वेच्छा से काम करना एक बात है लेकिन किसी और धर्म के संस्कारों में बिना जाने शामिल होना गलत बात है। आगे शाह ने कहा कि हमने वडोदरा नगर निगम को कह दिया है कि जिस व्यक्ति को लकड़ी और गोबर की आपूर्ति का ठेका दिया गया है, वह उसे श्मशान के बाहर ही पहुंचाए ना कि श्मशान के अंदर मौजूद रहे।

हालांकि भाजपा नेता विजय शाह की इन बातों पर उनकी पार्टी के नेताओं ने भी आपत्ति जताई है.  वडोदरा के मेयर केयूर रोकडिया ने कहा कि इस महामारी के समय सभी समुदायों को एक साथ और सामाजिक सौहार्द के साथ काम करना चाहिए।  वडोदरा के ही एक और भाजपा नेता ने भी डॉ विजय शाह के बयानों पर आपत्ति जताते हुए कहा कि उनका यह बयान काफी शर्मनाक है। इस समय महामारी की वजह से पूरा शहर तबाह है, इसलिए इस तरह के बयान काफी शर्मनाक हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि हम इस बात से इंकार नहीं कर सकते हैं कि पिछले साल भी वडोदरा में मुस्लिम युवकों ने नगर निगम के कामों में हाथ बंटाया था।

वडोदरा में कोरोना महामारी के समय ऐसे कई उदहारण देखने को मिले जब मृतक के परिवारों ने साथ आने से इनकार कर दिया तो मुस्लिम स्वयंसेवकों ने ही अंतिम संस्कार किया। खासेवाड़ी श्मशान में काम करने वाले एक शख्स ने भी इस मसले पर कहा कि पिछले साल इन्हीं मुस्लिम भाइयों द्वारा करीब 1000 शवों का अंतिम संस्कार किया गया था लेकिन किसी ने भी सवाल नहीं किया क्योंकि कोई भी इस श्मशान में देखने वाला नहीं था। साथ ही उन्होंने कहा कि मुस्लिम युवक काफी समय से हमारे साथ मिलकर काम कर रहे हैं।

इस बीच रविवार को महापौर रोकडिया, राज्य मंत्री योगेश पटेल और कई अधिकारियों ने मुस्लिम समुदाय के सदस्यों के साथ बैठक की और महामारी के दौरान नगर निगम के कामों में हाथ बंटाने के लिए धन्यवाद किया। साथ ही उन्होंने खासेवाड़ी श्मशान के मसले पर कहा कि श्मशान में गोबर और लकड़ी की आपूर्ति करने वाले का अनुबंध भी रद्द नहीं किया जाएगा।  

Next Stories
1 मुकेश अंबानी ने नहीं लगाया आज तक शराब या मांस को हाथ, जमीनी इतने कि रोडसाइड स्टॉल्स के खाने तक का चख लेते हैं स्वाद
2 कोरोनाः मनमोहन के खत पर हर्षवर्धन का पलटवार- कांग्रेसी भी आपके सुझाव मानें तो अच्छा होगा; Coronil का नाम ले स्वास्थ्य मंत्री कर दिए गए ट्रोल
3 ‘हमको शैतान बताते हो, तो तुम पर गुजरात का ब्रह्मपिशाच है सवार’, नरेंद्र मोदी के हमले पर जब बोले थे लालू- बिहारियों को भूत उतारना आता है
यह पढ़ा क्या?
X