ताज़ा खबर
 

कांग्रेसी एमएलसी को बीजेपी में शामिल करा रहे थे अमित शाह, आदित्यनाथ जैसे दिग्गज, परंपरा निभाने में हुई एक बड़ी भूल

रायबरेली में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की रैली के आयोजन में लापरवाही देखने को मिली। इस कार्यक्रम में हुई दो बड़ी चूक से पार्टी को असहज स्थिति का सामना करना पड़ा।

Author नई दिल्ली | April 23, 2018 10:46 AM
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह

रायबरेली के कांग्रेस एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह ने जब बीजेपी ज्वॉइन करने की इच्छा जताई तो बीजेपी ने इसे भुनाने के लिए खास प्लानिंग की। ताकि संदेश कर्नाटक विधानसभा चुनावों तक भी पहुंचे। खुद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह रविवार को योगी आदित्यनाथ के साथ रैली करने रायबरेली पहुंचे।इस रैली में राज्य के अन्य तमाम मंत्रियों ने हिस्सा लिया।

मगर इस कार्यक्रम में हुई दो बड़ी चूक से पार्टी को असहज स्थिति का सामना करना पड़ा। मंच के पीछे लगे बड़े पोस्टर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर गायब रही।

यही नहीं आयोजकों से एक और भूल हुई। मंच के नेता परंपरा के तौर पर पार्टी के विचारक दीन दयाल उपाध्याय और श्यामा प्रसाद मुखर्जी को परंपरागत रूप से पुष्प श्रद्धांजलि नहीं दी।

उधर इस मामले में जब बीजेपी में शामिल होने वाले कांग्रेस एमएलसी से लोगों ने पूछा तो उन्होंने कहा कि बीजेपी की संस्कृति से पूरी तरह वाकिफ वे नहीं हैं, इस नाते पोस्टर में नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगाना भूल गए।

बता दें कि रायबरेली में अमित शाह, योगी आदित्यनाथ के मंच के पीछे पोस्टर में न नरेंद्र मोदी का नाम और न ही उनकी तस्वीरें होने पर तमाम सवाल उठे थे। सोशल मीडिया पर इसकी तस्वीरें वायरल हुईं थीं। सोशल मीडिया यूजर्स ने ट्रोल भी करना शुरू कर दिया था। जिसके कारण पार्टी और पार्टी के नेताओं को असहज स्थिति का सामना करना पड़ा था। कुछ नेता जहां इस मामले पर सीधे टिप्पणी करने से बचते रहे, वहीं कुछ दबी जुबान करते रहे कि आयोजन का जिम्मा कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आने वाले एमएलसी के कंधे पर था, उन्हीं के स्तर से यह गड़बड़ियां हुईं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App