ताज़ा खबर
 

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की इफ्तार पार्टी में खाली ही रह गईं मंत्रियों, बीजेपी नेताओं की सीटें

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने शुक्रवार (23 जून) को राष्ट्रपति भवन में इफ्तार पार्टी दी।
राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी, कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी और पार्टी नेता गुलाम नबी आजाद, सीताराम येचुरी राष्ट्रपति भवन में इफ्तार के दौरान। (एक्सप्रेस फोटो- अनिल शर्मा)

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने शुक्रवार (23 जून) को राष्ट्रपति भवन में इफ्तार पार्टी दी। अगले महीने प्रणब का कार्यकाल खत्म हो जाएगा और उनकी तरफ से दी जाने वाली यह आखिरी इफ्तार पार्टी थी। लेकिन इसमें भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) या यूं कहें केंद्र सरकार की तरफ से कोई शामिल नहीं हुआ। सीपीएम पार्टी के महासचिव सीताराम येचुरी ने इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए कहा कि वहां ना तो कोई भी मंत्री था, ना कोई भी सरकार का नुमाइंदा और ना ही कोई बीजेपी का नेता। येचुरी ने कहा कि उन्होंने आजतक ऐसा कोई इफ्तार नहीं देखा था जिसमें भारत सरकार की तरफ से कोई भी ना पहुंचे।

समाजवादी पार्टी (सपा) से राज्य सभा सांसद जावेद अली खान ने कहा कि उन्हें भी राष्ट्रपति के इफ्तार में कोई मंत्री नहीं दिखा। जावेद ने कहा कि वह पिछली तीन इफ्तार पार्टियों में भी आए हैं लेकिन उस वक्त कई मंत्री वहां पहुंचे थे। जावेद ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह, मुख्तार अब्बास नकवी, महेश शर्मा और विजय गोयल का नाम लिया जो पिछले इफ्तार में उनको मिले थे लेकिन इस बार उनके पास वक्त नहीं था।

राष्ट्रपति भवन में मंत्रियों के आने के हिसाब से बैठने की व्यवस्था की गई थी। विदेश राज्य मंत्री एम जे अकबर को राज्य सभा में नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद के साथ बैठना था। लेकिन सीट खाली ही रही।

अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकली पिछले साल इफ्तार में पहुंचे थे। लेकिन इस बार वह नहीं आए। इंडियन एक्सप्रेस ने इस बारे में जब नकवी से बात की तो उन्होंने बताया कि उनकी पीएम नरेंद्र मोदी के साथ एक जरूरी मीटिंग थी। नकवी के मुताबिक, मीटिंग शाम 6.30 पर शुरू होकर रात को 8 बजे तक चली। मोदी शनिवार (24 जून) को विदेश दौरे पर निकल गए।

चुनाव आयोग के पूर्व प्रमुख एस वाई कुरैशी, पूर्व राज्यसभा सांसद मोहसीना किदवई, भारत इस्लामी सांस्कृतिक केंद्र के मुखिया सिराजुद्दीन कुरैशी और थियेटर एक्टर आमिर रजा हुसैन इफ्तार में पहुंचे थे। कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी ने लोगों को स्वागत किया था।

देखिए संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    manish agrawal
    Jun 24, 2017 at 2:23 pm
    आज़ाद हिन्दोस्तान के इतिहास में महामहिम राष्ट्रपति महोदय के साथ ऐसी उद्दंडता और नाफ़रमानी शायद किसी भी केंद्र सरकार ने आजतक नहीं की होगी , जैसी की इफ्तार पार्टी का बहिष्कार करके , मोदी सरकार ने की है ! बीजेपी का घमंड, इस वक़्त दैत्यराज महिषासुर और राक्षसराज रावण के अहंकार से भी ज्यादा बड़ा हो गया है ! अल्लाह खैर करे !
    (0)(0)
    Reply