ताज़ा खबर
 

बीजेपी नेता ने कहा- त्रिपुरा में हिंदू भी खाते हें बीफ, मत करो बैन तो लोग पूछ रहे ये सवाल

त्रिपुरा में प्रभारी की हैसियत से बीजेपी को ऐतिहासिक जीत दिलाने वाले सुनील देवधर अपने बीफ वाले बयान से आलोचकों के निशाने पर आ गए।उन्होंने कहा था कि त्रिपुरा में हिंदू भी बीफ खाते हैं, इस नाते यहां बैन नहीं लगना चाहिए।

Author नई दिल्ली | March 14, 2018 4:46 PM
बीजेपी के त्रिपुरा प्रभारी सुनील देवधर। (Photo Source: Facebook@sunildeodhar)

त्रिपुरा में प्रभारी की हैसियत से बीजेपी को ऐतिहासिक जीत दिलाने वाले सुनील देवधर अपने बीफ वाले बयान से आलोचकों के निशाने पर आ गए।उन्होंने कहा था कि त्रिपुरा में हिंदू भी बीफ खाते हैं, इस नाते यहां बैन नहीं लगना चाहिए। जिस पर सोशल मीडिया यूजर्स ने उन पर जमकर निशाना साधा और साथ ही भाजपा की भी खिंचाई की। सुनील देवधर से सवाल पूछने लगे। सुनील देवधर ने मंगलवार को दिए अपने बयान में कहा था-किसी राज्य में अगर बहुसंख्यक लोग नहीं चाहते हैं तो वहां की सरकार बीफ पर बैन लगाएगी। नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में बहुसंख्यक लोग उसे खाते हैं तो वहां की सरकार उस पर प्रतिबंध नहीं लगाती। उन्होंने आगे कहा कि, ‘यहां पर ज्यादातर मुसलमान और क्रिश्चियन हैं। कुछ हिंदू भी ऐसे हैं जो ये मांस खाते हैं तो मुझे वगता है कि उसपर कोई बैन नहीं होना चाहिए। इसलिए यहां बैन है भी नहीं।’

उनके इस बयान पर लोगों ने जमकर ट्रोल किया। विनोद दुआ नामक ट्विटर हैंडल से लिखा गया-त्रिपुरा में बीजेपी को जिताने वाले सुनील देवधर बोले- यहां हिंदू भी खाते हैं बीफ, नहीं होना चाहिए बैन ! यही है भाजपा का असली चेहरा ! वहीं अक्सा खान ने कहा-गौ माता तो बहाना है, मकसद सरकार बनाना है। यश शर्मा ने तंज कसते हुए कहा- फिर गौमाता, गौमाता चिल्लाकर इसके नाम पर वोट क्यों मांगते हो? वहीं एक अन्य सोशल मीडिया यूजर बाबूलाल दहिया ने कहा-अच्छा तो अब त्रिपुरा में बीफ वाली हिंदू पार्टी सत्ता में आ गई। फेसबुके पर देवेंद्र सुरजान ने लिखा-सुनील देवधर से पूछा जाना चाहिए, मित्र बीफ भोज में शामिल हुए थे क्या?

सुनील देवधर के बीफ वाले बयान पर लोगों ने किया ट्रोल सुनील देवधर के बीफ वाले बयान पर लोगों ने किया ट्रोल

 

सुनील देवधर के बीफ वाले बयान पर लोगों ने किया ट्रोल

स्वामी चिदंबरानंद ट्विटर हैंडल ने ट्वीट किया-क्या कहना चाहते हो, भाजपा सिद्धांत विहीन हो गई या सत्ता पाना हीसिद्धांत रह गया। अपने समर्थकों को कितना शर्मिंदा करोगे। शैलेंद्र तिवारी ने कहा- लो, जी गौमाता से रिश्ता खत्म।बता दें कि इससे पहले सुनील देवधर ने त्रिपुरा में जीत के बाद एक चैनल को दिए इंटरव्यू में सुअर का मांस खाकर खुद काम करने की बात कही थी। उन्होंने कहा था, ‘राज्य में संगठन खड़ा करने के लिए मैंने खुद पर बहुत काम किया। अपनी फूड हैबिट तक में भी बदलाव करना पड़ा। यहां पोर्क यानि सूअर का मांस भी खाना पड़ा।”

सुनील देवधर के बीफ वाले बयान पर लोगों ने किया ट्रोल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App