ताज़ा खबर
 

रोका गया IPL तो भाजपा सांसद बोले- अमित शाह के बेटे पर उठाई उंगली तो दिखा कोरोना

बायो बबल में कोविड-19 के कई मामले पाए जाने के कारण पिछले लगभग एक महीने से चल रहे आईपीएल को मंगलवार को अनिश्चितकाल के लिये स्थगित कर दिया गया।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: May 5, 2021 8:54 AM
IPL, BCCI

इंडियन प्रीमियर लीग का यह सीजन कोरोनावायरस महामारी की वजह से स्थगित कर दिया गया है। बताया गया है कि बायो बबल में रहने के बावजूद कई खिलाड़ी कोरोना संक्रमित पाए गए थे, ऐसे में सुरक्षा के मद्देनजर आईपीएल को रद्द कर दिया गया। अब इसे लेकर भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अप्रत्यक्ष तौर पर अमित शाह के बेटे और बीसीसीआई के सचिव जय शाह पर तंज कसा है।

क्या बोले सुब्रमण्यम स्वामी?: आईपीएल के अनिश्चितकाल तक रद्द होने की खबर को शेयर करते हुए एक ट्विटर हैंडल ने लिखा था कि सुब्रमण्यम स्वामी की सलाह के बाद ही बीसीसीआई ने कोरोना के बढ़ते केसों के मद्देनजर आईपीएल 2021 को स्थगित कर दिया। इस पर भाजपा सांसद ने रिप्लाई में लिखा, “यह तब हुआ है, जब मैंने कहा था कि अमित शाह का बेटा बीसीसीआई का नेतृत्व कर रहा है और इसलिए उसे कोरोना संक्रमण बढ़ने की सही रिपोर्ट्स मिल रही होंगी।”

चुनाव और कोरोना को लेकर भी भाजपा पर निशाना साध चुके हैं स्वामी: बता दें कि सुब्रमण्यम स्वामी पिछले कुछ समय से लगातार भाजपा पर ही निशाना साध रहे हैं। उन्होंने हाल ही में पार्टी की बंगाल में हार को लेकर तंज कसा था और पूछा था कि यूपी पंचायत चुनाव के नतीजे आ गए हैं क्या? उनका कहना था कि मीडिया की खामोशी अजीब लग रही है। इतना ही नहीं कोरोना के मुद्दे पर वे लगातार मोदी सरकार पर हमलावर रुख अपनाए हैं। हाल ही में स्वामी ने बताया था कि पिछले साल स्टैंडिंग कमेटी फॉर हेल्थ ने यह चेताया था कि ऑक्सीजन सिलेंडर और सप्लाई की भारी किल्लत है। सरकार ने उसकी कोई परवाह नहीं की।

आईपीएल अनिश्चितकाल तक स्थगित: बता दें कि जैव सुरक्षित वातावरण (बायो बबल) में कोविड-19 के कई मामले पाये जाने के कारण पिछले लगभग एक महीने से सुचारू रूप से चल रहे इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) को मंगलवार को अनिश्चितकाल के लिये स्थगित कर दिया गया जिसका टीमों ने स्वागत किया है। हालांकि कड़े यात्रा प्रतिबंधों के कारण विदेशी खिलाड़ी सुरक्षित स्वदेश लौटने के लिये बीसीसीआई की कार्रवाई का इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा,‘‘बीसीसीआई खिलाड़ियों, सहयोगी स्टाफ और अन्य प्रतियोगियों की सुरक्षा को लेकर कोई समझौता नहीं करना चाहता । यह फैसला सभी संबंधित पक्षों की सुरक्षा, स्वास्थ्य और भलाई को ध्यान में रखकर लिया गया।’’

Next Stories
1 दिल्ली सरकार का एलान, ऑटो-टैक्सी चालकों को राहत राशि, परिवारों को मिलेगा मुफ्त राशन
2 कोरोना, ऑक्सिजन संकटः आप अंधे हो सकते हैं, हम नहीं…कैसे इतने असंवेदनशील हो सकते हैं?- मोदी सरकार को दिल्ली HC की फटकार
यह पढ़ा क्या?
X