ताज़ा खबर
 

सुब्रमण्यम स्वामी का सुझाव, ‘सिर्फ BJP की मजबूती से कमजोर होगा लोकतंत्र, इटैलियन संतानों को हटाकर ममता बनें यूनाइटेड कांग्रेस की मुखिया’

अपने बयानों से सुर्खियों में रहने वाले भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए ट्वीट किया। ट्वीट में स्वामी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को यूनाइटेड कांग्रेस का अध्यक्ष बनने की सलाह दे डाली।

Author नई दिल्ली | July 12, 2019 10:45 AM
भाजपा नेता स्वामी ने कर्नाटक और गोवा में राजनीतिक संकट के बीच किया ट्वीट। (फाइल फोटो)

अपने बयान से कांग्रेस के साथ ही भाजपा को भी परेशानी में डालने वाले भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी एक बार फिर से अपने बयान को लेकर चर्चा में है। स्वामी ने कर्नाटक और गोवा में राजनैतिक संकट के मद्देनजर कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व पर तंज कसते हुए बयान दिया है।

स्वामी ने ट्वीट में कहा, ‘गोवा और कश्मीर के हालात को देखते हुए मुझे महसूस होता है कि यदि देश में भाजपा एकमात्र पार्टी बच गई तो इससे राष्ट्र का लोकतंत्र कमजोर हो जाएगा। इसका क्या हल है? इटैलियन और उनकी संतानों से जाने के लिए कहें. इसके बाद ममता संयुक्त कांग्रेस की अध्यक्ष हो सकती हैं। एनसीपी को भी उस रास्ते पर चलना चाहिए और कांग्रेस में अपना विलय कर देना चाहिए।’

ऐसा पहली बार नहीं है जब स्वामी ने इस तरह का बयान दिया है। स्वामी का यह बयान कर्नाटक और गोवा में राजनैतिक संकट के बीच आया है। कर्नाटक में कांग्रेस अपने विधायकों के बागी होने के कारण परेशान है। कांग्रेस और जेडीएस विधायकों के पाला बदलने के कारण राज्य में कांग्रेस जेडीएस गठबंधन सरकार पर संकट मंडरा रहा है।

वहीं गोवा से भी कांग्रेस के लिए अच्छी खबर नहीं आर रही है। कांग्रेस के 15 में से 10 विधायक पार्टी छोड़कर भाजपा में शामिल हो चुके हैं। कर्नाटक में सरकार की अस्थिरता के लिए कांग्रेस लगातार भाजपा को जिम्मेदार ठहरा रही है। वहीं भाजपा का कहना है कि इस संकट के पीछे उनकी पार्टी नहीं बल्कि कांग्रेस और जेडीएस का अंतर्कलह जिम्मेदार है।

स्वामी  कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व को लेकर लगातार आक्रामक रहे हैं। हाल ही में स्वामी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लेकर निशाना साधा था। स्वामी ने राहुल गांधी को ब्रिटिश नागरिक बताया। इस पर यूथ कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए देशभर में स्वामी के खिलाफ केस दर्ज कराने की बात कही थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App